घाघरा नदी निसान से कई सेमी ऊपर बह रही है, डूब सकता है उत्तर प्रदेश

उफनाई घाघरा नदी यहां मंगलवार को कई वर्षों के बाद रिकार्ड जलस्तर पर पहुंच गई है। इससे जिले की दो तहसीलों के सौ से अधिक गांवों में बाढ़ से तबाही मची है। यहां घाघरा और सरयू नदियों का जलस्तर जैसे-जैसे बढ़ हो रहा है, कई और गांव बाढ़ व पानी से घिरते जा रहे हैं। यह अलग बात है कि घाघरा नदी का जलस्तर पिछले चार वर्षों पहले के रिकार्ड को छूने की ओर तेजी से बढ़ रही है।  सिंचाई विभाग के अभियंताओं की माने तो इस समय किसी भी बंधे पर पहुंचना मुश्किल हो गया है।
केन्द्रीय जल आयोग के मुताबिक घाघरा नदी मंगलवार को खतरे के निशान से 87 सेमी ऊपर बह रही है। इस नदी का एचएफएल (हाई फ्लड लेवल ) 16 अगस्त 2014 में 107.60 मीटर था। जो मौजूदा जलस्तर से महज 20 सेमी ऊपर है। जल आयोग के एलिगन ब्रिज कार्यालय के अनुसार घाघरा नदी का जलस्तर दोपहर दो बजे 106.94 मीटर दर्ज हुआ। यह नदी प्रति दो घंटे पर एक सेमी की रफ्तार से बढ़ रही है। वहीं सरयू नदी लाल निशान से 55 सेमी ऊपर बह रही है। करनैलगंज और तरबगंज तहसीलों के गांव लगातार प्रभावित हो रहे हैं। जिला प्रशासन ने दावा किया है कि प्रभावित क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य किया जा रहा है।

Facebook Comments