योगी सरकार का बड़ा फैसला उप्र में बैन प्लास्टिक, देने होंगे 50 हजार जुर्माना…

अगर सरकार का यह आदेश पूरी तरह अमल में लाया जाता है तो पर्यावरण प्रदूषण से होने वाले खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

महाराष्ट्र समेत देश के 18 राज्यों में प्लास्टिक बैन होने के बाद अब यूपी सरकार ने भी इस दिशा में कदम उठाने का निर्णय लिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को घोषणा की कि पूरे राज्य में 15 जुलाई से प्लास्टिक पर प्रतिबंध लागू हो जाएगा।

आपको बता दें यह पहला मौका नहीं है जब यूपी में प्लास्टिक को प्रतिबंधित किया जा  रहा है, 2015 से से लेकर अब तक तीन बार यूपी में प्लास्टिक बैन को लेकर घोषणा हो चुकी है। प्रदेश में प्लास्टिक पर लगे बैन के बाद प्लास्टिक के उपयोग में कोई खासी कमी देखने को नहीं मिली है, लोग बेखौफ प्लास्टिक से बने उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं। इस घोषणा के बाद यूपी प्लास्टिक बैन करने वाला देश का 19वां राज्य होगा।

प्लास्टिक उत्पादों को लेकर तय किये गए मानक

  • सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पॉलिसी के तहत 50 माइक्रॉन से पतली पॉलिथिन का इस्तेमाल पूरी तरह प्रतिबंधित होगा।
  • आदेश का उल्लंघन करने वाले पर 50 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।
  • इसके अलावा सरकार ने प्लास्टिक बनाने, प्रयोग करने, बेचने और ट्रांसपोर्ट, वितरण, थोक और खुदरा बिक्री तथा स्टोर करने पर पूर तरह रोक लगा दी है।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 15 जुलाई के बाद सरकार प्लास्टिक के कप, ग्लास और पॉलिथिन के इस्तेमाल करने पर जुर्माना लगा सकती है। इससे पहले सपा सरकार ने 2015 आदेश जारी कर प्लास्टिक पर बैन लगाने की कोशिश की थी, लेकिन प्रदेश में प्लास्टिक का उपयोग बदस्तूर जारी है। अगर सरकार का यह आदेश पूरी तरह अमल में लाया जाता है तो पर्यावरण प्रदूषण से होने वाले खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

Facebook Comments