चाचा चौधरी, बिल्लू और पिंकी बच्चों की दुनिया से क्यों दूर हो गए कारण …..

ज्यूपिटर ग्रह से आया एक लम्बे चौडे़ कद का आदमी जो साबू कहलाया, पृथ्वी पर रहने वाले बड़ी मूंछों वाले चाचा चौधरी ने साबू को पनाह दी और शुरू हो गयी मजेदार कहानियां।
वहीं कई जानवरों से बना अंगारा, सर्कस मेंं पैदा हुआ सुपर कमांडों ध्रुव और नाग के जहर से बना नागराज कुछ याद आया इन किरदारों के नाम से। हां हम बात कर रहे हैं कॉमिक्सों के जमाने की जब गर्मियों की छुट्टियों में बच्चें व बड़े इन कॉमिक्सों की चटपटी कहानियां में खोए रहते हैं। आज कम्पयूटर के युग में कॉमिक्सों से लोग दूर हो गए हैं।
एक वक्त था जब गर्मियों की छुट्टियां होते ही बच्चें कॉमिक्सों की दुकानों पर इकट्ठा हो जाते थे। इन बुक स्टॉलो से पढ़ने की लिए किराए पर कॉमिक्सें ली जाती थी। लोग बडे़ ही चाव से कॉमिक्सों की कहानियों का आनन्द उठाया करते थे। लेकिन वक्त बदलते ही इन कॉमिक्सों की जगह लोगों के जहन से हट गयी।
आज यह अपनी पहचान बनाने के लिए जूझ रही हैं। शहर के स्योहारा बस स्टैंड के पास बुक स्टॉल चलाने वाले संचालक का कहना है कि एक समय था जब लोग कॉमिक्सों का सैट आने का इंतजार किया करते थे। उस जमाने में कई दर्जनों कॉमिक्सों के सैट पलभर में बिक जाया करते थे। गर्मियों की छुट्टियों में बच्चें कॉमिक्स खरीदने के लिए स्टॉल पर उमड पड़ते थे। आज कम्पयूटर के दौर ने कॉमिक्सों को खत्म सा कर दिया हैं। अब शहर में कॉमिक्स बिकनी पूरी तरह बंद हो गयी हैं।
Facebook Comments