छेड़खानी से परेशान,17 साल की लड़की ने फांसी लगाकर दी जान…

पुलिस ने बताया कि लड़की ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट लिखा था। जिसमे्ं उसने लिखा था कि वह रोजान छेड़खानी से तंग आ चुकी है। जिसके चलते वो ये कदम उठाने जा रही है। इसमें मेरे परिवार का कोई दोष नहीं है। अब मैं और सहन नहीं कर सकती इसलिए मैं खुद को खत्म कर रही हूं। 

गुरूग्राम के टीकली गांव में रोजाना छेड़खानी से परेशान होकर एक लड़की के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि लड़की गांव के ही युवर द्वारा छेड़खानी करने से परेशानी थी जिसके चलते उसने यह कदम उठाया है। लड़की के पिता की शिकायत पर बादशाहपुर थाना पुलिस ने अज्ञात युवक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने आगे कहा कि लड़की के पास से बरामद हुए सुसाइड नोट के मुताबिक लड़की पिछले कुछ दिनों से छेड़खानी और आपत्तिजनक शब्दों का सामना कर रही थी जिसके चलते उसने ये आत्मघाती कदम उठाया है। इन सबमें हैरानी की बात यह है कि जब लड़की इतने दिनों से छड़खानी का सामना कर रही थी तो उसने अपने घरवालों को इस बारे में क्यों नहीं बताया। लड़की ने रविवार रात अपने कमरे में दुपट्टे से फांसी लगाकर जान दे दी थी।

घरवालों को इस बात का पता तब चला जब लड़की सोमवार सुबह 8 बजे तक अपने कमरे से बाहर नहीं आई। जिसके बाद उसके परिजन उसे बुलाने के लिए आवाज दी लेकिन वो नहीं आई। जिसके बाद घरवालों ने लड़की के कमरे का दरवाजा तोड़ दिया और उसे फांसी के फंदे से झूलता हुआ पाया।

घरवालों की सूचना पर बादशाहपुर पुलिस स्टेशन से पुलिस मौंके पर पहुंची जहां उसने एक सुसाइड नोट बरामद किया। सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया है। हालांकि लड़की ने अपने सुसाइड नोट में युवक का नाम दर्ज नहीं किया है।

 

Facebook Comments