परीक्ष परिणामों को जाति गत तरिके से बातें जाने कि कारण छात्र-छात्राओं के साथ परिजन भी नाराज…..

मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन के 10वीं और12वीं के परिणाम पर  कमलनाथ ने सवाल उठाये हैं. कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट पर कहा है कि भारतीय जनता पार्टी लोगों को  जातियों में बांटने का का काम रक् रही है.

कमलनाथ ने लिखा है कि पहले धार में पुलिस की भर्ती में एससी-एसटी अभ्यर्थियों का वर्गीकरण किया था और अब एमपी बोर्ड के रिजल्ट में ऐसा किया गया. दअरसल परीक्षा परिणाम वाली शीट पर साफ तरह से  ‘वर्गवार नियमित’ लिखा हुआ है. कांग्रेस ने  इसे जाति आधारित रिजल्ट करार दिया है.

परीक्ष परिणामों को जाति गत तरिके से बातें जाने कि कारण छात्र-छात्राओं के साथ परिजन भी नाराज बताये जा रहे हैं. इस पुरे मामले पर माध्यमिक शिक्षा मंडल  के चेयरमैन का कहना है कि  बोर्ड रिजल्ट में वर्गीकरण करने का उद्देश्य छात्रों को फायदा पहुंचाना है.

इससे विद्यार्थियों के लिए बनाई गई योजना का लाभ मिलेगा.  चेयरमैन का काना है कि जाति आधारित परिणाम क्या हो सकता है, मुझे तो समझ नहीं आता. इस तरह का वर्गीकरण छात्र-छात्राओं को सरकार की योजनाओं  से लाभ दिलाने के लिए किया गया है.

Facebook Comments