अब एक साल तक नहीं खेल पाएगा क्रिकेट, नाइट क्लब में गुजारी थी रात

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने नाइट आउट करने के लिए अपने एक युवा क्रिकेटर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए उसे एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने लेग स्पिनर जेफ्रे वेंडरसे को ‘कोड ऑफ कंडक्ट’ के उल्लंघन का दोषी पाया और उन पर यह कार्रवाई की। वेंडरसे पर उनके सालाना अनुबंध का 20 फीसदी जुर्माना भी लगाया गया है। इस बैन का मतलब है कि वह अब 2019 का वनडे विश्व कप नहीं खेल सकेंगे। दरअसल, वेस्ट इंडीज दौरे पर सेंट लूसिया में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच की समाप्ति के बाद जेफ्रे वेंडरसे नाइट क्लब गए थे और सुबह तक वापस नहीं लौटे। टीम मैनेजमेंट ने पुलिस से वेंडरसे के अपने रूम में नहीं होने की शिकायत की।

टीम होटल की बजाए नाइट क्लब में गुजारी थी रात
होटल पहुंचने के बाद वेंडरसे ने टीम मैनेजमेंट को बताया कि उनके साथी खिलाड़ी उन्हें नाइट क्लब में छोड़कर वापस आ गए थे, जिसके बाद वह रास्ता भटक गए। हालांकि उनकी इस दलील का टीम मैनेजमेंट पर कुछ ज्यादा असर नहीं पड़ा और उनका वेस्ट इंडीज दौरा 23 जून को ही खत्म कर दिया गया। इतना ही नहीं, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में भी उन्हें नहीं शामिल किया गया। इस मामले में जेफ्रे वेंडरसे ने अपनी गलती स्वीकार भी कर ली है। उन्होंने अपने साथी खिलाड़ियों तथा श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड से गलती के लिए माफी मांगी है।

गलती करने के बाद पश्चाताप कर रहे हैं जेफ्रे वेंडरसे
जेफ्रे वेंडरसे ने ट्वीट में लिखा, ‘अपने किए के लिए मैं आप सभी से माफी मांगता हूं। मैंने आप सभी को शर्मिंदा किया है। मुझे एक साल के लिए सस्पेंड किया गया है। मैं आप आप सभी से वादा करता हूं कि वह सबकुछ करूंगा, जिससे देश और टीम का सिर गर्व से ऊंचा हो।’ वह इससे पहले भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज नहीं खेलने की वजह से भी विवादों में रहे थे। वेंडरसे ने श्रीलंका के लिए 11 वनडे में 43 की औसत से 10 विकेट झटके हैं। वह 7 टी-20 मैचों का हिस्सा रहे हैं, जिसमें उन्होंने 4 विकेट लिए हैं।

Facebook Comments