अटल के नाम पर रखा साइबर टॉवर का नाम, मॉरीशस की वाजपेयी को श्रद्धाजंलि

मॉरीशस की राजधानी पोर्ट लुईस में 11वां विश्व हिंदी सम्मेलन शनिवार से शुरू हो गया । दुनिया में हिंदी भाषा की पहुंच को बढ़ावा देने के उद्देश्य से यहां आयोजित इस सम्मेलन में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को   श्रद्धांजलि भेंट करते हुए मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जगन्नाथ ने घोषणा की कि जिस साइबर टावर के निर्माण में अटल जी ने सहयोग प्रदान किया था, अब उस टावर का नाम अटल बिहारी वाजपेयी टावर होगा।

सम्मेलन की शुरुआत में वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया। इस मौके पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं। सम्मेलन का उद्घाटन मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जगन्नाथ ने किया। इस साल विश्व हिंदी सम्मेलन का थीम है- हिंदी की दुनिया और भारतीय संस्कृति। ऐसा इस बार पहली बार हुआ है जिसमें आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के लिए विशेष विमान का प्रबंध किया गया। करीब 290 सदस्य पोर्ट लुईस पहुंचे हैं। साथ ही यह भी पहली बार हुआ है जब दिल्ली, चंडीगढ़ और पुडुचेरी सहित 29 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के प्रतिनिधि इस सम्मेलन में हिस्सा लेने आए है।
PunjabKesari
करीब 20 देशों से आए 2000 सदस्यों वाले इस तीन दिनों के सम्मेलन में हिंदी की दुनिया और भारतीय संस्कृति पर आठ उपविषयों पर व्याख्यान दिए जाएंगे।साथ ही वाजपेयी जी के साहित्य पर 2 घंटे का विशेष सत्र भी होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस सम्मेलन की सफलता के लिए शुभकामनाएं दी हैं। मोदी ने अपने संदेश में कहा है कि मैं आश्वस्त हूं कि यह सम्मेलन हिंदी के इस्तेमाल को बढ़ावा देने में मददगार होगा और पूरी दुनिया में हिंदी की महत्वपूर्ण भूमिका की समझ बढ़ेगी।

PunjabKesari

Facebook Comments