जल्द ही आंधी-बारिश के साथ मचेगा मौत का तांडव….

मौसम विभाग ने देश के 20 से ज्यादा राज्यों में चक्रवाती तूफान सागर को लेकल अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने इश संबंध में तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और लक्षद्वीप को अलर्ट जारी किया।

बता दें ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि चक्रवाती तूफान सागर यमन के अदन शहर से करीब 390 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में और सोकोत्रा द्वीप समूह से 560 किलोमीटर पश्चिमी-उत्तर पश्चिम में अदन की खाड़ी के ऊपर केंद्रित है।

अलर्ट में कहा गया है कि अगले 12 घंटों में इसके थोड़े मजबूत होने और फिर पश्चिमी-दक्षिण पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। साथ ही मछुआरे अगले 48 घंटों के दौरान अदन की खाड़ी और पश्चिमी मध्य तथा दक्षिण-पश्चिमी अरब सागर के आसपास के क्षेत्रों में न जाएं।

अगले 24 घंटों में इनकी चपेट में अदन की खाड़ी और पश्चिमी मध्य एवं दक्षिण पश्चिमी अरब सागर के आसपास के क्षेत्रों के आने की संभावना है। उसके बाद धीरे-धीरे यह कमजोर हो जाएगा। दक्षि‍ण और पश्‍च‍िमी राज्‍यों के तटीय इलाकों में 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहीं तूफानी हवाएं 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर पहुंच रही हैं।

इस दौरान अदन की खाड़ी और पश्चिमी मध्य एवं दक्षिण पश्चिमी अरब सागर में अगले 24 घंटों में समुद्र में परिस्थितियां प्रतिकूल रहेंगी। वहीं, राजस्थान में एक बार फिर धूलभरी आंधी आ सकती है। साथ ही दिल्ली-एनसीआर में भी मौसम बिगड़ सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक, गर्मी के मौसम में यह बदलाव होता ही है। लेकिन इस बार पाकिस्तान और अफगानिस्तान के ऊपर वेस्टर्न डिस्टर्बेंस और राजस्थान और मध्यप्रदेश के ऊपर चक्रवाती हालात बनने से मौसम लगातार खराब हो रहा है।

मौसम विज्ञान की भाषा में इसे लोकल क्लाउड सेल कहते हैं। कई बार एक से दो घंटे में ही आंधी तूफान का रूप ले लेता है। पूरे उत्तर भारत में ये स्थिति कई राज्यों में बन रही है।

मौसम विभाग ने असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, तटीय आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, लक्षद्वीप के कुछ इलाकों में तेज हवा के साथ आंधी का अलर्ट जारी किया है।

जिस तरह से मौसम विभाग की एक के बाद एक भविष्यवाणियां सही हो रही हैं उसे देखते हुए अगले दो दिन फिर भारी पड़ने वाले हैं।

Facebook Comments