ऑलराउंडर डेविड विली ने कुलदीप और भुवनेश्वर पर लगाएं संगीन आरोप

भारत के खिलाफ दूसरे T20 इंटरनेशनल मैच से पहले इंग्लैंड टीम के ऑलराउंडर डेविड विली ने टीम इंडिया के गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव के रनअप को लेकर सवाल उठाया है।

ESPNcricinfo में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, विली का कहना है कि पहले T20 मैच में भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव रन-अप पूरा करने के बाद गेंद करने से ठीक पहले रुक जाते थे, जो खेल भावना के अनुकूल नहीं है।

विली ने कहा, ‘मुझे लगता है कि भुवनेश्वर ऐसा इसलिए कर रहे थे ताकि वो भांप सके मैं क्या करने वाला हूं। उन्होंने ऐसा कई बार किया। भुवनेश्वर के अलावा स्पिन गेंदबाजों ने भी इसे दोहराया। मुझे नहीं पता कि इसके लिए क्या नियम हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि ये खेल भावना के लिए सही है। मुझे ये बिल्कुल अच्छा नहीं लगा। मैं अगर उनकी जगह होता तो ऐसा कभी नहीं करता और न ही कभी करूंगा, ये सही नहीं है।’

गौरतलब है कि भारत-इंग्लैंड के बीच मैनेचेस्टर में खेले गए पहले T20 मैच के दौरान चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव, जोस बटलर के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए आखिरी समय पर रुक रहे थे। मैदान पर मौजूद सभी खिलाड़ियों को लगा कि यादव नॉन स्ट्राइकर पर खड़े एलेक्स हेल्स को रन आउट करने के लिए ऐसा कर रहे हैं। लेकिन अपने अगले ओवर में भी उन्होंने ऐसा किया तो हेल्स और बटलर ने अंपायर से इसकी शिकायत की। इंग्लैंड की पारी के आखिरी ओवर में तेज गेंदबाज भुवनेश्वर ने भी कुछ ऐसा ही किया। इस दौरान विली और भुवनेश्वर के बीच कुछ कुछ कहासुनी भी हुई थी।

विली ने इस बारे में आगे कहा, ‘ये कुछ बड़ा नहीं था। मुझे लगता है कि सारे माइक्रोफोन और कैमरा की वजह से लोग इन चीजों को लेकर थोड़ा परेशान हो जाते हैं। मुझे नहीं लगता कि उन्होंने मुझ पर दबाव बनाया। उनके पास कुछ आक्रामक खिलाड़ी हैं और ये खेल का हिस्सा है। ये सालों से होता आया है लेकिन पहले के समय में माइक्रोफोन और कैमरा की कमी की वजह से ज्यादा चर्चा में नहीं आया। मौजूदा समय में ऐसी चीजें ज्यादा ध्यान खींचती हैं। मुझे टकराव से कोई दिक्कत नहीं। मैं पहले भी इसका हिस्सा रहा हूं। अगर मेरे साथ ऐसा होता है तो मैं आगे बढ़कर हिस्सा लेने से चूकूंगा नहीं। हमे क्रिकेट खेलने औकर ये चीजें दूसरों पर छोड़ने की सलाह मिली है।’

वहीं, पहले T20 में नाबाद शतकीय पारी खेलने वाले केएल राहुल अपने साथियों के बचाव में उतार आए। राहुल ने विली के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि एक बल्लेबाज के तौर पर मुझे भी इस तरह की गतिविधि से परेशानी होती है, लेकिन इंग्लैंड के नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े खिलाड़ी पहले ही काफी ज्यादा बाहर निकल रहे थे।

उन्होंने कहा, T20 फॉर्मेट में गेंदबाजों के पास गलती करने की गुंजाइश न के बराबर होती है, इसलिए वे बल्लेबाजों को झुंझलाने के लिए जो कुछ भी कर सकते हैं वह सही है। यदि नॉन स्ट्राइकर जल्दी बाहर निकलेगा तो गेंदबाज उसे आउट भी कर सकता है। यदि वो जल्दी ज्यादा बाहर निकलेगा तो उसे रन पूरे करने में आसानी होगी और बड़ी बाउंड्रीज के चलते वो सिंगल को डबल में बदल देगा। इसलिए यदि गेंदबाज ऐसा कदम उठा रहे थे तो वह सही था।

Facebook Comments