शरद यादव ने भी की मांग, जेपीसी करे राफेल डील की जांच

लोकतांत्रिक जनता दल के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन सरकार पारदर्शी व्यवस्था में विश्वास करती है तो उसे राफेल विमान सौदा घोटाले की जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराने पर सहमत होना चाहिए। शरद ने कहा कि इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति से होनली चाहिए जिसमें सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि शामिल होते हैं।उन्होंने कहा कि वर्ष 2011 में टू-जी घोटाले को लेकर भी संयुक्त संसदीय समिति गठित की गयी थी। उन्होंने संयुक्त संसदीय समिति से इस मामले की जांच की मांग करते हुए कहा कि वह इस पर दबाव बनाने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों से बातचीत कर रहे हैं।

PunjabKesari

यादव ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद के राफेल विमान सौदे पर आये बयान से सब कुछ उजागर हो गया है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस एक शब्द भी नहीं कहा है। इस सौदे में पारदर्शिता का अभाव है जिसके कारण लोंगों में इस सौदे में घोटाला होने का संदेह हो गया है।

उन्होंने कहा कि इस विमान का मूल्य 526 करोड़ रुपये से बढ़कर 1570 करोड़ रुपये कैसे हो गया तथा विमान की खरीद 126 से घटकर 36 कैसे हो गयी। इस सौदे की गोपनीयता का हवाला देकर संसद में भी इसके बारे में जानकारी नहीं दी गयी।

Facebook Comments