दिल्ली में सामने आए डेंगू-चिकनगुनिया की मामलों को लेकर नाराज़ दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा …….

आपको बता दें कि मानसून का समय निकट आ चुका है, ऐसे में इस मौसम में फैलने वाली बिमारियों ने सरकार का ध्यान आकर्षित किया है, साथ ही हाई कोर्ट ने भी इसपर अपनी नज़र बनाए हुए है. हालांकि, दिल्ली एमसीडी ने कुछ सर्वे किए हैं , जिनमे उन्होंने डेंगू और चिकनगुनिया के लार्वे घर-घर जाकर ढूंढे थे, साथ ही लोगों को इनसे बचने की सलाह भी दी  थी

दिल्ली हाई कोर्ट ने नागरिकों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सिविक एजेंसियों को कड़ी फटकार लगाई है, दिल्ली में सामने आए डेंगू-चिकनगुनिया की मामलों को लेकर नाराज़ दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि इन हालातों में दिल्ली के लोग आखिर कैसे रहें और सिविक एजेंसियों को कितनी बार कहा जाए. दरअसल, कुछ दिन पहले दिल्ली से कुछ चिकन गुनिया और मलेरिया के मामले सामने आए थे.

 

डेंगू-चिकनगुनिया पर रोकथाम की मांग से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करते हुए एमसीडी को निर्देश दिया है कि वे अपनी एक्शन रिपोर्ट पेश करें कि पिछले कुछ महीनों में इन बीमारियों को रोकने के लिए उन्होंने क्या किया. दिल्ली हाईकोर्ट ने एमसीडी के खिलाफ सख्त रुख करते हुए उसे 8 हफ़्ते में स्टेटस रिपोर्ट देने को कहा है, साथ ही उन्होंने ई-वेस्ट मैनेजमेंट के लिए राजधानी में कदम उठाए जाने के निर्देश भी एमसीडी को दिए.

 

 

Facebook Comments