Monsoon Alert : दिल्ली में बाढ़ का खतरा! हथिनीकुंड बैराज के पहली बार खोले गए सभी 18 गेट

दिल्ली पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। पांच गुना पानी बढ़ने से शनिवार को दिल्ली में यमुना खतरे के निशान को भी पार कर गई। उधर, हरियाणा ने पहली बार हथिनीकुंड बैराज के सभी 18 गेट खोल दिए हैं। यह पानी अगले 48 से 72 घंटे में दिल्ली पहुंचेगा। हालात से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अफसरों के साथ आपात बैठक की है।

दिल्ली के बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुताबिक हथिनीकुंड बैराज से शनिवार दोपहर पौने पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। 48 घंटों में यह पानी दिल्ली पहुंचेगा और इससे यमुना का जलस्तर बढ़ना तय है। उधर, बैराज के सभी 18 गेट खुलने से बाढ़ का संकट पैदा हो गया है। बाढ़ नियंत्रण विभाग और दिल्ली आपदा प्रबंधन की टीमों को अलर्ट कर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि रात नौ बजे जल स्तर 205.36 मीटर पर पहुंच गया। यह लगातार बढ़ रहा है। इसके बाद  प्रशासन ने न्यू उस्मानपुर, यमुना पुश्ता, सोनिया विहार, गांधीनगर के निचले इलाकों से लोगों को बाहर निकालने का काम शुरू कर दिया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, हरियाणा ने पांच लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा है। यह पानी कल शाम तक दिल्ली पहुंचने की संभावना है। प्रशासन जहां से भी लोगों को निकालकर ले जा रहा है, वहां पर उनसे सहयोग करने को कहा जा रहा है। सारे विभाग हाई अलर्ट पर हैं।

छह साल पहले जैसे हालात
हथिनीकुंड बैराज में इससे पहले 16 जून 2013 को 8.6464 क्यूसेक पानी भरा था। इससे बाढ़ के हालात बने थे। शनिवार को 6.5 लाख क्यूसेक पानी जमा हो गया जिसे छोड़ना पड़ा।

लगातार बारिश ने चिंता बढ़ाई
मौसम विभाग के मुताबिक हरियाणा-हिमाचल प्रदेश और दिल्ली में लगातार हो रही बारिश के कारण यमुना नदी के जल स्तर में इतनी बढ़ोतरी हुई है।

Facebook Comments