SGPGI से डिस्चार्ज होने के बाद पुलिस को मिला दिलप्रीत का 2 दिन का रिमांड

पी.जी.आई. से डिस्चार्ज होने के बाद अदालत से पुलिस को गैंगस्टर दिलप्रीत बाबा का 2 दिन का रिमांड मिला है। अस्पताल से उसे स्ट्रैचर द्वारा एम्बुलैंस तक पहुंचाया गया क्योंकि वह फिलहाल चलने-फिरने में सक्षम नहीं है। दिलप्रीत की गिरफ्तारी डालने के लिए उसे चंडीगढ़ के सैक्टर नं. 36 थाने में ले जाया गया। 2 दिन बाद उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। वहीं, दिलप्रीत बाबा की गर्लप्रैंड रूपिंद्र ने पुलिस इन्वैस्टीगेशन में इस बात का खुलासा किया है कि कुख्यात गैंगस्टर विक्की गौंडर के एनकाऊंटर के बाद दिलप्रीत बुरी तरह सहम गया था और उसे लगता था कि पुलिस की गोली का अगला शिकार वही होगा। इसी के चलते उसने रोपड़ पुलिस के कुछ पुलिसकर्मियों से संपर्क साधकर आत्मसमर्पण के प्रोसीजर की जानकारी भी मांगी थी।

नशे की ओवरडोज लेकर अपनी गर्लफ्रैंड को भी पीटता था दिलप्रीत 
रूपिंद्र के अनुसार मशहूर कलाकार परमीश वर्मा पर हमला दिलप्रीत का आखिरी क्राइम था। इसके बाद उसके मन में पकड़े जाने का इतना डर था कि वह नशे की ओवरडोज लेने लगा था और नशे की हालत में उसने उसे भी काफी पीटा था, जिसके बाद उसे चंडीगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था।

पूर्व एस.एच.ओ. द्वारा चंडीगढ़ बस स्टैंड पर देखे जाने की बात को दिलप्रीत ने नकारा
लाडी शेरोवालिया पर पर्चा दर्ज कर लाइमलाइट में आने वाले शाहकोट के पूर्व एस.एच.ओ. परमिन्दर सिंह बाजवा ने गैंगस्टर दिलप्रीत बाबा को चंडीगढ़ बस स्टैंड के एक ढाबे पर देखने का दावा किया था। पुलिस इन्वैस्टीगेशन में दिलप्रीत ने इस बात को नकारा है। दिलप्रीत का कहना है कि वह जब भी चंडीगढ़ बस स्टैंड किसी को लेने जाता था तो कभी अपनी गाड़ी से नहीं उतरता था।

Facebook Comments