शेयर और लाइक की आई बाढ़,आसिफा को दी वो श्रद्धांजलि की मिसाल बन गई…..

सारा देश दुष्कर्म के मुद्दों को लेकर गुस्से में है और अब ये बातें देश की अस्मिता पर प्रश्न चिन्ह भी लगा रही है. मगर भारत को यु ही महान राष्ट्र नहीं कहा जाता है. आज भी देश में अनेकता में एकता और दरिंदो से भरी दुनिया में कुछ दिलवाले, ईमानवाले मौजूद है. दुष्कर्म के छालों पर मरहम लगाने का काम इस बार राम ने किया है . जी हा केरल के रजित राम ने दर्द के इस माहौल में एक मिसाल कायम कर दी है.

जहा एक ओर कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या को सांप्रदायिक और राजनीति चोला पहनाने की कोशिश की जा रही है, वही  इस सब के बीच भारत की अखंडता और एकता की मिसाल पेश करते हुए केरल के कन्नूर में राम ने अपनी नवजात बेटी का नाम कठुआ गैंगरेप पीड़िता के नाम पर रखा है.

फेसबुक पर अपनी बेटी की तस्वीर शेयर करते हुए रजित राम ने ऐलान किया है कि उन्होंने अपनी बेटी का नाम गैंगरेप पीड़ित बच्ची के नाम पर रखा है.
उनके पोस्ट को सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है. लोग उन्हें धार्मिक सौहार्द की मिसाल बताते हुए उनकी तारीफ कर रहे हैं. फेसबुक पर उनका पोस्ट 15 हजार से भी ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं जबकि 22 हजार से ज्यादा लोग इसे लाइक कर चुके हैं.

Facebook Comments