किसान ने अपनी बेटी की बचपन की ख्वाहिश उसकी शादी में की पूरी….

दुल्हन का ससुराल सिर्फ 6 किलोमीटर दूर है, लेकिन फिर भी पिता और भाई ने उसकी शादी के लिए हेलीकॉप्टर का इंतजाम कराया। इस दौरान दुल्हन सिर से लेकर पैर तक सोने के जेवरों से लदी हुई थी।

 

इस शाही शादी की चर्चा पूरे शहर में हो रही है। शहर से चंद किलोमीटर दूर बसे मैरी गांव के रहने वाले किसान राकेश यादव ने बताया, ‘मेरी की तीन बेटियां हैं। सबसे छोटी बेटी दीपिका की शादी 12 मई को अभय से हुई है। दामाद अभी पढ़ाई कर रहा है। उसके पिता सीताराम यादव भी किसान हैं। दीपिका का बचपन से ही सपना था कि उसकी डोली हेलिकॉप्टर से उठे।

राकेश के मुताबिक, ‘हमने बेटी से वादा किया था कि तुम्हारा सपना जरूर पूरा करेंगे। लेकिन जहां उसका रिश्ता तय हुआ, वहां से हमारे घर की दूरी महज 6 किलोमीटर थी। फिर भी हमने अपने वादे का मान रखते हुए बेटी की विदाई के लिए हेलिकॉप्टर मंगाया। हम बहुत खुश हैं कि हमारी बेटी के ससुराल पक्ष वालों ने उसे लाखों के जेवर पहनाकर विदा करवाया।

हेलिकॉप्टर देखने के लिए हाईवे पर इकट्ठे हुए लोग : जब राकेश की बेटी की विदाई होने वाली थी, उस समय यह नजारा देखने के लिए लोगों की भीड़ लगी रही। यही नहीं, हाईवे के ओवर ब्रिज से ऊपर से निकलने वाले लोग भी रुक-रुक कर विदाई समारोह देखने लगे। कार्यक्रम के दौरान किसी भी प्रकार की भगदड़ या अनहोनी ना हो इसके लिए पुलिस प्रशासन मौके पर मौजूद था। विदाई के वक्त दुल्हन के ससुर ने कहा कि वो सिर्फ बहू नहीं बल्कि बेटी लेकर जा रहे हैं, इसलिए उसका परिवार ज्यादा चिंता ना करे।

 

Facebook Comments