फरारी दुल्हन:सुहागरात के दिन ‘मन्नत’ का हवाला देकर पति से बनाई दूरी…

दरअसल, भोपाल पुलिस ने एक ऐसी दुल्हन को गिरफ्तार किया है, जो शादी करने के बाद घर में लूटपाट कर फरार हो जाती थी। ये दुल्हन अपने गिरोह के साथ पहले परिवार को अपने झांसे में लेती और बाद में रीति-रिवाज से शादी भी करती। सुहागरात के दिन ‘मन्नत’ का हवाला देकर पति से दूरी बना लेती है, फिर धोखा देकर सबकुछ हड़प लेती है।

युवती का नाम माही और अब पुलिस की डायरी में इसकी पहलचार लुटेरी दुल्हन के तौर पर दर्ज हो गई है। माही की गैंग में तीन सदस्य हैं, एक महिला जिसे वो अपनी मां बताती है, जबकि दो फरार आरोपी, जिन्हें माही अपना पिता और चाचा बताती है।

ये रिश्ते सिर्फ लोगों के लिए फंसाने के लिए हैं। इसी रिश्तेदारी से गिरोह के सदस्य अपने शिकार को फंसाते हैं। ताजा मामला राजधानी के गौतम नगर इलाके का है। जिला धार ग्राम उमरिया निवासी जीवन जाट पेश से किसान हैं।

पिछले साल फरवरी में उसके गांव के एक पंडित के माध्यम से उसका रिश्ता भोपाल के गौतम नगर में रहने वाली माही नाम की लड़की से तय हुआ था। इस रिश्ते के लिए जीवन के परिजनों ने रिश्ता कराने वाले पंडित को 70 हजार रुपए भी दिए थे।

माही ने बताया था कि वो अपने चाचा राजेश सिंह, चाची शीला सिंह और भाई सतेंद्र सिंह के किराए के घर में रहती थी। जीवन ने परिजनों से साथ आकर माही को देखा और रिश्ता तय हो गया। दो महीने पहले दोनों की शादी हुई। आर्थिक मजबूरी बताने पर जीवन के पक्ष ने शादी का पूरा खर्च भी खुद ही उठाया था। जीवन ने माही के पक्ष के रिश्तेदारों को अपने गांव बुलाकर मंदिर में रीति-रिवाज के साथ फेरे ले लिए थे।

शादी के बाद पति-पत्नी के संबंध की बात आने पर माही ने एक मन्नत होने का बहाना बनाया। शादी के दो दिन के बाद माही के परिजनों ने भोपाल में एक दावत रखने की बात कही। भोपाल में जीवन का परिवार भी पहुंचा, लेकिन माही को ब्यूटी पार्लर ले जाने के बहाने सभी आरोपी फरार हो गए। जब जीवन परिजनों के साथ बताए गए शादी हॉल पहुंचा, तो उसे पता चला की किसी भी माही या उसके परिजनों ने शादी हॉल बुक नहीं किया है।

जीवन माही के घर पहुंचा, तो वहां उन्हें पता चला कि 15 दिन पहले ही माही किराए का मकान खाली करके चले गए हैं। घर पर जाकर जीवन ने देखा, तो पता चला कि माही अलमारी में रखे 70 हजार रुपए और शादी में चढ़ाए गए जेवर भी ले गई है। अपने साथ हुई ठगी का पता चलने पर जीवन ने गौतम नगर थाना पुलिस से शिकायत की।

पुलिस मामले की जांच कर माही और उसके चार साथियों पर एफआईआर दर्ज की। पुलिस पूछताछ में आरोपी माही और उसकी साथी ने शादी के बाद दो अलग-अलग परिवारों से लूटपाट की वारदात कबूली है।

पुलिस ने आरोपी माही और उसकी महिला साथी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है। गिरोह के बाकी के दो सदस्यों की तलाश की जा रही है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद आगे कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।

 

Facebook Comments