सुबह-सुबह कुछ सेकेंड तक कांपती रही धरती…..

भूकंप विज्ञान केंद्र के अधिकारियों ने यहां बताया कि भूकंप का केंद्र पूर्वी गारो हिल्स जिले में 60 किलोमीटर की गहराई में था। इस वजह से कुछ सेकेंड तक धरती हिलती रही। मेघालय और सात अन्य पूर्वोत्तर राज्य भूकंप के लिहाज से सबसे संवेदनशील माने जाने वाले जोन पांच में आते हैं।

बता दें कि इससे पहले दिल्ली में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे। यह झटके दिल्ली समेत जम्मू-कश्मीर तक महसूस किए गए। अफगानिस्तान के हिंदूकुश में इसका केंद्र है। दिल्ली-NCR में मौसम अचानक बदल गया, तभी करीब सवा चार बजे भूकंप के झटके से लोग दहशत में आ गए। USGS के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 6.2 थी और इससे अफगानिस्तान-ताजिकिस्तान-पाकिस्तान का क्षेत्र ज्यादा प्रभावित हुआ है।

सुबह मेघालय में भूकंप का झटका महसूस किया गया। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.7 मापी गई। भूकंप से किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

 

भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान के इसकासिम से 36 किमी उत्तर पश्चिम में 111.9 किमी गहराई में था। हिमाचल के कुल्लू और शिमला में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। जम्मू और कश्मीर के लोगों ने भी ये झटके महसूस किए हैं। भारत के साथ-साथ अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। पाकिस्तान के इस्लामाबाद समेत कई शहरों में भी झटके महसूस किए गए हैं।

 

 

वहीं, दिल्ली के कुछ इलाकों में धूल भरी आंधी चलने के साथ हल्की बारिश भी हुई है। आपको बता दें कि देश के कई राज्यों में पिछले 2 दिनों से धूल भरी आंधी और तेज हवाएं चल रही हैं।   बुधवार को ही हरियाणा के भिवानी समेत कई इलाकों में बारिश के साथ-साथ ओले भी पड़े। शाम में दिल्ली के अधिकांश क्षेत्रों सहित झज्जर, रोहतक, भिवानी, पलवल, गुरुग्राम, मानेसर, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, खुर्जा, बावल, सोनीपत, बागपत, अलीगढ़, नोएडा, हापुड़, गाजियाबाद, बुलंदशहर व आसपास के क्षेत्रो में तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना जताई गई है।

 

Facebook Comments