राज्यसभा जहां जनता के वोट दिए बीना बन जाते हैं सांसद, आखिर कैसे

कैसे होता है चुनाव, कौन देता है वोट

क्या होती है राज्यसभा

कैसे तय होती है किसी प्रदेश के राज्यसभा की सीटें

क्यों होता है राज्यसभा की सीटों के लिए चुनाव

सब का जवाब यहां मिलेगा.

23 मार्च 2018. ये वो तारीख है जब संसद के उच्च सदन यानी राज्यसभा की 58 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. इसके लिए सभी पार्टिंयों ने अपने-अपने उम्मीदवार तय कर दिए हैं. इस चुनाव के बाद से राज्यसभा की पूरी तस्वीर बदल जाएगी.

क्या होती है राज्यसभा

पहले आम चुनाव के बाद ये तय किया गया था कि संसद का एक और सदन होना चाहिए, जिसे राज्यसभा कहा जाएगा. देश में राज्यसभा के गठन की घोषणा 23 अगस्त 1954 को की गई थी. उसी वक्त ये तय हो गया था कि ये संसद का उच्च सदन होगा, जिसमें अधिकतम 250 सदस्य होंगे. इनमें से 12 सदस्यों को चुनने का अधिकार राष्ट्रपति के पास होगा. बाकी बचे 238 सदस्यों का चुनाव राज्यों की विधानसभा के प्रतिनिधियों के अलावा दो केंद्रशासित प्रदेश दिल्ली और पुडुचेरी के प्रतिनिधि करेंगे. इसलिए अंडमान निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, चंडीगढ़, दमन और दीव के साथ ही दादरा और नगर हवेली का राज्यसभा में प्रतिनिधित्व नहीं है. फिलहाल राज्यसभा के कुल सदस्यों की संख्या 245 है, जिनमें से 12 का चुनाव राष्ट्रपति करते हैं. बाकी बचे 233 सदस्य राज्यों से चुने जाते हैं.

कैसे तय होती है किसी प्रदेश के राज्यसभा की सीटें

राज्यसभा में अधिकतम सीटों की संख्या 250 होगी. ये संविधान में तय किया गया है. इसके बाद किसी भी राज्य में राज्यसभा के कितने सदस्य होंगे, ये उस राज्य की जनसंख्या से तय किया जाता है. उदाहरण के लिए देश में यूपी की जनसंख्या सबसे ज्यादा है. ऐसे में यूपी के लिए 31 सीटें निर्धारित की गई हैं. इसके बाद सबसे ज्यादा आबादी महाराष्ट्र की है, तो वहां पर 19 सीटें हैं. इसी तरह से पश्चिम बंगाल और बिहार में 16-16 सीटें हैं. अधिकतम संख्या तय है, इसलिए इनमें बदलाव तभी होता है, जब नए राज्य बनते हैं.

क्यों होता है राज्यसभा की सीटों के लिए चुनाव

राज्यसभा एक स्थाई सदन है, इसलिए ये कभी भंग नहीं होती है. इसके सदस्यों का कार्यकाल 6 साल का होता है. हर दो साल पर इसके एक तिहाई सदस्यों का कार्यकाल पूरा हो जाता है और फिर उन सीटों पर चुनाव होता है. 2018 में भी 58 सदस्यों का कार्यकाल पूरा हो रहा है, जिसके लिए 23 मार्च को वोटिंग होगी.

कैसे होता है चुनाव, कौन देता है वोट

राज्यसभा के चुनाव के लिए सिंगल ट्रांसफरेबल वोट (STV)सिस्टम होता है. अमेरिका, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, नेपाल, ब्रिटेन, माल्टा और आयरलैंड जैसे देशों में इस सिस्टम के जरिए ही चुनाव होता है. इसको समझने के लिए चलिए यूपी में चलते हैं. वहां पर विधानसभा की कुल 403 सीटे हैं. यहां पर राज्यसभा के सदस्यों की संख्या 31 है. अब यहां चुनाव हैं. ऐसे में एक सीट जीतने के लिए कितने वोट चाहिए, इसको समझते हैं.

Facebook Comments