5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की जानकारियां हुई लीक…

आपको बता दें कि कंपनी के कर्ताधर्ता ब्रैटबार्ट के संस्थापक स्टीव बेनन हैं। उन्होंने क्रिस्टोफर वाइली की मदद से ब्रिटेन में कैम्ब्रिज एनालिटिका की नींव रखी थी। कैम्ब्रिज एनालिटिका एक निजी कंपनी है जो डाटा से जुड़े प्रोजेक्ट पर काम करती है।

5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की जानकारियां लीक का मामला सामने आने के बाद फेसबुक के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की मांग उठने लगी है। ‘डिलीट फेसबुक’ की मांग जोर पकड़ने लगी है। विश्व की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक परेशानी का सामना कर रही है। आरोप है कि 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की जानकारियां लीक हुईं, जिसका फायदा अमेरिकी चुनाव में राष्ट्रपति ट्रंप के लिए काम करने वाली कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका ने उठाया।

बता दें कि कैम्ब्रिज एनालिटिका को जानकारी मिली कि कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी ने ‘मायपर्सनैलिटी’ फेसबुक ऐप बनाकर एक स्टडी की थी। यहां यूजर्स से एक क्वीज खेलने को कहा गया था। जिन भी लोगों ने यह क्वीज खेला, उनकी तमाम जानकारी (फेसबुक प्रोफाइल से लेकर फ्रैंड्स लिस्ट तक) इस ऐप को बनाने वालों के पास चली गई थी।

कैम्ब्रिज एनालिटिका की फेसबुक के डाटा पर पहले से नजर थी, लेकिन यहां सेंध मारना इतना आसान नहीं था। 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान इस फर्म को डोनाल्ड ट्रम्प के लिए काम करने का ऑफर मिला। इसके बाद फेसबुक डाटा हासिल करने के लिए कैम्ब्रिज एनालिटिका ने नए सिरे से जुगाड़ शुरू की।

अब कोगन ने कैम्ब्रिज एनालिटिका के लिए ‘मायपर्सनैलिटी’ जैसा ही फेसबुक ऐप बनाया, जिसे ‘दिसइजयोरडिजिटललाइफ’ नाम दिया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस तरह कैम्ब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक के 5 करोड़ यूजर्स का डाटा हासिल कर लिया। फेसबुक ने सफाई दी है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका ने जो कुछ किया, वह डाटा सेंधमारी नहीं था, बल्कि फेसबुक ही समय-समय पर रिसर्च करने वालों को अकादमिक उपयोग के लिए इस तरह का एक्सेस देता है।

Facebook Comments