बस दरार में लगाएं और मोजा पहनकर सो जाएं…फटे पैरों को रातों-रात सही करते हैं ये घरेलू नुस्खे

पैरों की अगर अच्छी तरह से देखभाल ना किया जाए तो पैर फट जाते हैं। कई बार नंगे पैर चलने के कारण या फिर खू’न की कमी की वजह से भी पैरों में दरारें आ जाती हैं। इसे बिवाई भी कहते हैं। फटी एड़ियां देखने में गंदी लगती है। फटे पैरों के कारण शर्मिंदा भी होना पड़ता है। तो चलिए हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में, जिसे जानकर आपको कभी शर्मिंदा होना नहीं पड़ेगा।

अमचूर का तेल 50 ग्राम, मोम 20 ग्राम, सत्यानाशी के बीजों का पावडर 10 ग्राम और 20 ग्राम शुद्ध घी ले लीजिए। इन सबको मिलाकर एक जार में डाल दीजिए। सोते समय पैरों को धोकर साफ कर लें और पोंछकर यह दवा बिवाई में भर दें और मोजे पहनकर सो जाइए। ये तरीका इतना जबरदस्त है कि यह आपके पैरों को रातों रात ठीक कर देगा।

रात में सोने से पहले पैरों को अच्छी तरह से साफ कर लीजिए। उसके बाद कच्चे घी में बोरिक पाउडर मिलाकर दरारों में भर दीजिए। उसके बाद मोजे पहनकर सो जाइए। ऐसा 3-4 दिन करने पर फटी हुई एड़ियां ठीक हो जाएंगी। इसके अलावा आप त्रिफला चूर्ण को खाने के तेल में तलकर मलहम जैसा गाढ़ा कर लीजिए। रात में सोते वक्त इस पेस्ट को फटे पैरों पर लगा लीजिए। कुछ दिनों तक इस लेप को लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाएंगी और पैर कोमल होंगे।

पपीते के छिलकों को सुखाकर और पीसकर चूर्ण बना लीजिए। इस चूर्ण में ग्लिसीरीन मिलाकर दिन में दो बार फटी हुई एड़ियों में लगाने से बहुत जल्दी फायदा होता है। जब एड़ियों से खून निकल रहा हो तो उनको रात में गर्म पानी से धुलकर उनमें गुनगुना मोम लगाने से खून निकलना बंद हो जाता है और फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं। कच्चा प्याज पीसकर एड़ियों पर बांधने से बिवाईयां ठीक हो जाती हैं। गेंदे के पत्तों के रस को वैसलीन में मिलाकर लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं। पैरों को गर्म पानी से धुलकर उसमे एरंड का तेल लगाने से फटी एड़ियां ठीक हो जाती हैं। मोम और सेंधा नमक मिलाकर फटी एड़ियों पर मलने से बिवाईयां ठीक हो जाती हैं।

Facebook Comments