घर में आग लगने से बुजर्ग दंपति की जिंदा जलकर हुई मौत….

 

बुजुर्ग दंपति की बेटियों ज्योति और नीरू ने कहा कि उनके माता-पिता को उनके भाई संतोष ने जलाकर मारा है। उन्होंने बताया कि संतोष की दिमागी हालत कुछ ठीक नहीं थी। वह आए दिन मां-पिता को पीटता था। उन्हें जलाकर मारने की धमकी देता था। शराब की लत थी और रोजाना पापा से पैसे मांगता था और नहीं देने पर उन्हें पीटता था।

मोती नगर इलाके में जिंदा जले इन बुजुर्ग दंपति को जिंदा जलाकर मारने का आरोप उनके बेटे पर हैं। घटना के बाद से बेटे फरार है। आरोप है कि बेटे ने पेट्रोल छिड़़ककर घर में आग लगाई फिर दरवाजे को बाहर से बंद करके भाग गया।

पश्चिमी दिल्ली के मोती नगर इलाके के सुदर्शन पार्क स्थित एक घर में गुरूवार देर रात आग लग गई जिसमें एक बुजर्ग दंपति की जिंदा जलकर मौत हो गई।

डीसीपी विजय कुमार ने बताया कि 70 साल के छेदी लाल और 65 साल की लक्ष्मी की मौत हुई है। घटना गुरुवार रात करीब पौने तीन बजे की है। फायर डिपार्टमेंट को आग लगने की सूचना मिली थी। जब तक गाड़ियां मदद के लिए पहुंची, सब कुछ राख हो चुका था।

आसपास के लोगों ने बताया कि बेटे की जरूरतों को पूरा करने के लिए छेदीलाल फलो की रेहड़ी लगाथे थे। दिनभर में वह जो 300-400 रूपए कमाते थे संतोष उन्हें छीन लेता था। मोहल्ले की एक महिला ने बताया कि छेदीलाल अपनी पत्नी लक्ष्मी से बहुत प्यार करते थे। बताया जा रहा है कि रात में भी संतोष ने माता-पिता से झगड़ा किया था। कुछ देर बाद आग लगा दी।

 

Facebook Comments