बाजार में आई है एक नई किस्म की मछली,देखने के लिए उमड़ी भीड़…

इस किस्म की मछली के पालन के पीछे किसानों की बढती रुचि का बडा कारण यह है कि इनके पालन का खर्च कम है और इसकी प्रजनन क्षमता अधिक है। इस किस्म की मछलियों की अमेरिका, यूरोप और जापान में निर्यात की भारी संभावना है।

देश के विभिन्न हिस्सों विशेष कर पश्चिम बंगाल, आन्ध्र प्रदेश ,तमिलनाडु और झारखंड में व्यावसायिक पैमाने पर तिलापिया का पालन शुरु किया गया है। झारखंड सरकार इस मछली के पालन करने वाले किसानों को प्रोत्साहन राशि भी दे रही है।

संयुक्त राष्ट खाद्य एवं कृषि संगठन के अनुसार तेजी से बढने वाली इस मछली की किस्म का पालन विश्व के 85 देशों में किया जा रहा है तथा विभिन्न देशों इसके पालन में तेजी आयी है। तिलापिया की कुल 70 किस्में विश्व में पायी जाती है जिनमें से नौ प्रजातियों का व्यावसायिक पालन किया जाता है।

Facebook Comments