सैकड़ों वर्ष पुराना पेड़, जिस पर उभरी आकृति भगवान गणेश की …

आगरा। कण कण में भगवान विराजते हैं। ये कहावत आज चरितार्थ हुई आगरा के सिकंदरा स्मारक में। यहां एक पेड़ पर भगवान गणेश की आकृति दिखाई दी। इसके बाद आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। लोगों की भीड़ वहां उमड़ी और पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया। इस पेड़ का फोटो दरअसल एक विदेशी सैलानी ने खींचा था, उसके बाद वहां चर्चाओं का दौर शुरू हो गया।

सैकड़ों वर्ष पुराना पेड़, जिस पर उभरी आकृति
आगरा के सिकंदरा स्मारक में सैकड़ों वर्ष पुराने पेड़ है। एक ऐसा ही इमली का पेड़ उद्यान में है, जो सैकड़ों वर्ष पुराना बताया जा रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यहां एक विदेशी सैलानी सुबह कुछ फोटोग्राफ करने पहुंचा था। उसने यहां कुछ ऐसा देखा कि वो कैमरे से इस पेड़ के कई फोटो खींचने लग गया। इसके बाद कौतुहलवश कुछ लोग वहां एकत्रित हुए, तो उन्होंने यहां साक्षात गणेश भगवान की आकृति पेड़ से उभरते हुए देखी। इसके बाद लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सिकंदरा स्मारक में लगे इस पेड़ को लोग पूजने लग गए। आस्था का सैलाब यहां उमड़ पड़ा। ये खबर आस पास के क्षेत्रों के लोगों को भी हुई। वहीं बोदला रोड स्थित एक पेड़ पर भी लोगों की आस्था उमड़ी यहां भी भगवान की आकृति को देखकर लोग उस पर दूध और जल अर्पित करने लगे। लोगों ने यहां पूजन अर्चन भी शुरू कर दिया।

टीले में निकले थे भगवान शिव
बता दें कुछ महीने पहले ही आगरा के क करैठा क्षेत्र में वनखंडी भगवान के दर्शन लोगों को मिट्टी के टीले में हुए थे। यहां लोगों ने पूजा अर्चना शुरू की और भ जन कीर्तन का दौर भी चला था। लोगों की आस्था इस कदर उमड़ी थी कि यहां मेला भी लगा था।

डीजीपी से प्रेरित होकर यहां की रेलवे पुलिस ने भी हाथों में थामी झाडू

Facebook Comments