करुण नायर को 5वें टेस्ट में ना खिलाने पर भड़के गावस्कर

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट नेओवल मैदान पर जारी पांच मैचों की सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच में भारत के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक के करियर का यह अंतिम मैच है। इसके बाद वह क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे। मेजबान टीम सीरीज में 3-1 की अजय बढ़त बना चुकी है। भारत ने इस मैच के लिए दो बदलाव किए हैं। प्लेइंग इलेवन में हार्दिक पांड्या और रविचंद्रन अश्विन के स्थान पर हनुमा विहारी और रवींद्र जडेजा को शामिल किया गया है। विराट कोहली 40 टेस्ट मैचों की कप्तानी के दौरान प्लेइंग इलेवन में 39 बार बदलाव कर चुके हैं।

आखिरी मुकाबले में हनुमा विहारी को टेस्ट डेब्यू का मौका मिला। वह भारत की तरफ से टेस्ट खेलने वाले 292वें खिलाड़ा बने। पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने विहारी को शुभकामना दी लेकिन करुण नायर को दरकिनार किए जाने पर सवाल खड़े किए। सुनील गावस्कर ने प्लेइंग इलेवन चुने जाने पर सवाल खड़े किए। उनका कहना था भारत की तरफ से सिर्फ दो बल्लेबाजों ने टेस्ट क्रिकेट में तिहारा शतक बनाया है। एक वीरेंद्र सहवाग और दूसरे हैं करुण नायर जो टीम में मौजूद हैं। उन्होंने कहा-आखिर उनको मैच में क्यों नहीं मौका दिया जा रहा है।

करुण नायर को प्लेइंग इलेवन में ना चुने जाने का समर्थन पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भी किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि करुण नायर के बारे में आखिर बात क्यों नहीं हो रही है। अगर छह बल्लेबाज के साथ खेलने की बात है तो सबसे पहले नायर को चुना जाना चाहिए।

हर्षा भोगले ने भी करुण नायर को टीम में रखने लेकिन प्लेइंग इलेवन में नहीं चुने जाने पर सवाल खड़ा किया।

Facebook Comments