घमौरियों से छुटकारा देंगे यह 19 घरेलु नुस्खे

गर्मियों में घमोरियां होना एक आम बात है एक तो भयंकर गर्मी और उस पर बहते पसीने में ये घमोरियां, पुरे तन बदन में आग लगा देती हैं। घमोरियां ज़्यादातर गले पेट और पीठ पर अधिक प्रकोप दिखाती हैं। गर्मियों में घमौरियों से बचने के लिए भोजन में तड़का (छोंक) लगते समय प्याज और लहसुन और गर्म मसालों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। कच्चा प्याज गर्मी से बचाता है तो छोंक लगा हुआ प्याज गर्मी करता है।
अगर घमोरियां हो गयी हों तो ऐसे में आप तुरंत आराम के लिए निम्नलिखित प्रयोग अपना कर घमौरियों के कष्ट से तुरंत आराम पा सकते हैं।आइये जाने घमौरियों(Ghamoriyo) को दूर करने के घरेलू उपाय

Image result for prickly heat

पहला प्रयोगः नींबू का रस लगाने से अथवा आम की गुठली के चूर्ण को पानी में मिलाकर उसे शरीर पर लगाकर स्नान करने से घमौरियाँ(Ghamori)मिटती हैं।

दूसरा प्रयोगः ग्रीष्म ऋतु में प्रायः पीठ के ऊपर घमौरियाँ (छोटी-छोटी फुन्सियाँ) हो जाती हैं। 5 ग्राम सोंफ कूटकर पानी से भरे बर्तन में डाल दें व प्रातः इसी पानी से स्नान करे व सोंफ को पानी में पीसकर लेप बनाकर पीठ पर लगाने से घमौरियाँ शीघ्र ही ठीक होती हैं।

Image result for prickly heat

विभिन्न औषधियों से उपचार-

१* मुलतानी मिट्टी से घमौरियों का इलाज:

शरीर पर “अच्युताय हरिओम मुलतानी मिट्टी” का लेप करने से घमौरियां कुछ ही दिनों में मिट जाती हैं।

Image result for prickly heat

२* मेहंदी से घमौरियों का इलाज:

शरीर में घमौरियां होने पर मेहंदी का लेप करने से घमौरियां कुछ ही समय में बिल्कुल खत्म हो जाती हैं।नहाते समय पानी में मेहंदी के पत्तों को पीसकर मिला लें। इस पानी से नहाने से घमौरियां ठीक हो जाती हैं और रोगी को राहत मिलती है।

३* नीम से घमौरियों का इलाज:

घमौरियां होने पर नीम की छाल को घिसकर चन्दन कीतरह शरीर पर लगाने से घमौरियां कुछ ही समय में ठीक हो जाती हैं। पानी में थोड़ी सी नीम की पत्तियां डालकर उबाल लें। इस पानी से नहाने से घमौरियां दूर हो जाती हैं।

४* चंदन से घमौरियों का इलाज:

सफेद चंदन को पानी के साथपीसकर शरीर पर लेप करने से घमौरियां ठीक हो जाती हैं।गुलाब जल में चंदन और कपूर को घिसकर घमौरियों पर लगाने से आराम आता है।

५* खसखस से घमौरियों का इलाज:

20 ग्राम खसखस को पीसकरपानी में मिलाकर घमौरियों पर लगाने से घमौरियों से राहत मिलती है। इसके अलावा 2 चम्मच खसखस के शर्बत को 1कप पानी में मिलाकर दिन में 2-3 बार पीने से भी घमौरियों में लाभ होता है।

६* घी से घमौरियों का इलाज :

गाय या भैंस के असली घी की पूरे शरीर पर मालिश करने से घमौरियां मिट जाती हैं और दुबारा कभी होती भी नहीं हैं।

७* तुलसी से घमौरियों का इलाज:

तुलसी की लकड़ी को पीसकर चन्दन की तरह शरीर पर मलने से घमौरियां समाप्त हो जाती हैं।

८* समुद्रफेन से घमौरियों का इलाज:

समुद्रफेन के बारीक चूर्ण को गुलाब जल में मिलाकर शरीर पर लगाने से घमौरियों से राहत मिलती है।

९* करेला से घमौरियों का इलाज:

चौथाई कप करेले के रस में 1चम्मच खाने वाला मीठा सोडा मिलाकर दिन में 2 से 3 बार घमौरियों पर लेप करने से घमौरियां मिट जाती हैं।

१०* आम से घमौरियों का इलाज:

कच्चे आम को धीमी आंच में भूनकर इसके गूदे का शरीर पर लेप करने से घमौरियों में आराम होता है।

११* धनिया से घमौरियों का इलाज:

पानी में 50 ग्राम धनिये के पानी को भिगो देना चाहिए। लगभग 5 घंटे बाद इस पानी को छानकर घमौरियों वाले स्थान पर लगाने से राहत मिलती है। यदि किसी छोटे तौलिये को इस पानी में भिगोकर घमौरियों पर रखा जाए तो रोगी को बहुत आराम मिलता है। इस प्रक्रिया को 2 दिन तक सुबह-शाम करने सेघमौरियां नष्ट हो जाती हैं। इसकेअतिरिक्त नींबू के रस में धनिया डालकर पीना भी घमौरियों में लाभकारी रहता है। ध्यान रहे कि घमौरियों के कारण शरीर में नमक की मात्रा कम होनेलगती है। इसलिए नमक का सेवन अवश्य ही करना चाहिए। यदि रोटी में नमक और अजवायन को मिला लिया जाएतो भी घमौरियों में बहुत आराम मिलता है।

१२* एलोवेरा :

एलोवेरा के पत्तों का गूदा दिन में दो बार घमौरियों वाले स्थान पर लगाएं और इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें और उसके बाद धो दें। ऐसा करने से घमौरियाँ ठीक हो जाएंगी।

१३* जई(Oatmeal) :

एक कप जई(Oatmeal) का महीन आटा नहाने के एक बाल्टी पानी में घोल लें। इस पानी से घमोरियों को धीरे धीरे धोने से घमोरियों ( ghamori )

में आराम मिलता है।

१४* हल्दी :

हल्दी , बेसन का उबटन लगाकर नहाने से घमोरी ghamori में आराम मिलता है।

१५ *नींबू:

एक गिलास पानी में एक नींबू का रस निचोकर दिन में तीन बार लेने से घमोरियां ठीक होती है। नींबू का रस मुल्तानी मिटटी मे मिलाकर घमोरियों पर लगाने से भी आराम मिलता है।

१६* पानी:

गर्मी में पानी , शर्बत , ठंडाई , और फलों का जूस इत्यादि का सेवन ज्यादा करने से घमोरी ghamori नहीं होती है।

१७*करेले :

करेले का रस चौथाई कप लें इसमें इतना ही पानी मिलाकर पिएँ। चार पांच दिन सुबह शाम पीने से घमौरियाँ ghamoriya ठीक हो

जाती है।

Facebook Comments