आप आप भी ऐसा घी खा रहे तो हो जाएँ सावधान…….

नायब तहसीलदार, खाद्य आपूर्ति विभाग व खाद्य सुरक्षा विभाग के अफसर जैसे ही अंदर घुसे तो असहनीय बदबू से सामना हुआ। अंदर का नजारा देख वे हैरान रह गए अफसरों ने हाथ व कपड़ों से मुंह-नाक ढंककर कारखाने में घी बनाने की प्रक्रिया देखी। इस दौरान गंदगी देख अफसर दंग रह गए। लोहे के टबों पर जंग लगा हुआ था। उसमें दूध, मलाई और दही से बना क्रीम सड़ रहा था। कारखाने में लोहे की 49 कैरेट रखी हुई थी।

जिसे सात-सात की कतार में जमाकर रखा गया था। इसमें मलाई और दही फेंटकर बना क्रीम डाल कर एक महीने से सड़ने के लिए छोड़ दिया था। ठंडक के लिए कोल्ड स्टोरेज में डिब्बे रखे थे। जिस पर रखे लकड़ी के ढक्कन भी खराब मिले। जहां क्रीम के डिब्बे रखे। उस पर कबूतर उड़ रहे थे। इनकी बीट और टूटे हुए पंख टबों के अंदर चिपके हुए थे। फफूंद पर मच्छर और मक्खियां चिपके अलग ही दिखाई दे रहे थे। घी बना रहे कर्मचारी इन्हें निकालने तो दूर इन्हें घी के अंदर ही घोल रहे थे।

नायब तहसीलदार अनाद्रिका ने जब वहां के एक कर्मचारी से पूछा क्या है ये सब, इतनी गंदगी के बीच क्या बना रहे हो। जवाब में कर्मचारी ने कहा- मैडम घी ऐसे ही बनता है। कर्मचारी ने कहा- हम साफ करवा लेते हैं। जब टब बाहर निकलवाए गए, तो उसमें रखे क्रीम पर फफूंद जमी हुई थी। एक घंटे चली जांच के दौरान कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, खाद्य सुरक्षा विभाग के निरीक्षक ने 10 अलग-अलग सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजा। इनकी रिपोर्ट एक सप्ताह में आएगी। अफसरों ने कहा अमानक दिखाई दे रहा है। बहुत गड़बड़ है। रिपोर्ट आते ही खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत केस दर्ज करेंगे।

 

मामले पर बुरहानपुर के कलेक्टर सत्येंद्रसिंह ने कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए शहर की खाद्य सामग्री दुकानों पर रुटीन जांच है के लिए अधिकारियों को भेजा था। सैंपल लिए है जांच के लिए भेजेंगे रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे।

Facebook Comments