भाई, चाचा और गांव के एक व्यक्ति ने मिलकर की किशोरी की हत्या….

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुई एक किशोरी की हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझा दिया है। 8 अप्रैल को हुई किशोरी की हत्या के आरोप में पुलिस ने किशोरी के भाई, चाचा और गांव के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है।

इस मामले को लेकर पुलिस ने कहा कि मृतक किशोरी ऑनर किलिंग का शिकार हुई थी। पुलिस ने यह भी बताया कि किशोरी के साथ बलात्कार भी हुआ था। फिलहाल पुलिस ने हत्या के आरोपी किशोरी के भाई, चाचा और सूरज सिंह को रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत जेल भेज दिया है।

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि किशोरी के पड़ोस में ही रहने वाले एक युवक ने उसके साथ कई बार रेप किया था। वह युवक किशोरी को बदनाम करने की धमकी देता था और उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता था। इस बात की जानकारी किशोरी के परिजनों को हो गई। वही आरोपी युवक जब किशोरी के साथ रात के समय जबरदस्ती कर रहा था तो उसी दौरान किशोरी का चाचा और भाई भी पहुंच गए। किशोरी के परिजनों को देखते ही आरोपी युवक वहां से भाग गया। लेकिन किशोरी के भाई और चाचा ने उसकी दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी।

उसके बाद आरोपी भाई और चाचा उसके शव को वही छोड़कर भाग गए। वहीं पुलिस ने कहा कि सुबह जब किशोरी की लाश मिली तो किशोरी के शरीर पर मौजूद कपड़ों की स्थिति को देखते व घटनास्थल का हाल देख किशोरी के साथ रेप के बाद हत्या की आशंका जताई गई। वही पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी किशोरी के साथ बलात्कार होने की पुष्टि हो गई। इसी जांच को लेकर पुलिस अपनी कार्रवाई में लग गई।

पुलिस ने किशोरी की हत्या की रिपोर्ट का मामला दर्ज कर लिया और कार्रवाई शुरू कर दी। पुलिस ने सबसे पहले उस घटना के दौरान फोन पर हुई बातचीत को खंगालना शुरू कर दिया। एक ऐसा नंबर मिला जिस पर रात में कई बार कॉल हुई थी। वही जब पुलिस को इस नंबर के ऊपर शक हुआ और नंबर को सर्विलांस पर लगाया गया तो पुलिस को पता चला कि यह नंबर उस किशोरी के पड़ोस में रहने वाले सूरज सिंह का था।

पुलिस ने गांव वालों से सूरज के बारे में पूछताछ शुरू की तो पुलिस को पता चला कि सूरज हमेशा उस किशोरी के ऊपर अपनी गंदी नजर रखता था। वहीं पुलिस ने जब सूरज को हिरासत में लिया और सख्ताई के साथ पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया। पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी सूरज ने बताया कि उसने कई बार उस किशोरी के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे और जिस दिन यह घटना हुई थी। उस दिन भी उसने धमकी देकर रात को किशोरी को बुलाया था। लेकिन अचानक ही वहां पर किशोरी के भाई और चाचा भी पहुंच गए। इसके बाद आरोपी सूरज वहां से भाग गया। वहीं पुलिस ने बताया कि आरोपी सूरज इस पूरी घटना के बाद काफी डर गया था। इसी वजह से अपना घर छोड़कर भाग गया था।

पुलिस ने इस पूरे मामले के तार ऑनर क्लीनिंग से जोड़ दिए। जिसके बाद पुलिस ने उस किशोरी के भाई दीपक और चाचा सुखलाल को अपनी हिरासत में ले लिया। जब दोनों आरोपी भाई और चाचा से पूछताछ की गई तो सारा मामला सामने आ गया। पुलिस ने बताया कि 7 अप्रैल की रात को किशोरी के घर से गायब हो जाने के बाद किशोरी का भाई दीपक और उसका चाचा सुखलाल उसे ढूंढते हुए खेत की ओर गए।

किशोरी के भाई और चाचा ने गोहटी करेंहदा गांव के पास किशोरी और उस युवक को आपत्तिजनक हालत में देख लिया। जिसे देख दोनों गुस्से में आग बबूला हो गए आरोपी सूरज तो मौका देख कर भाग गया। लेकिन किशोरी अपने ही परिजनों के गुस्से की आग का शिकार हो गई। किशोरी के भाई दीपक और चाचा सुखलाल ने पहले किशोरी के साथ खूब मारपीट की और उसके बाद दुपट्टे से गला घोटकर उसे मौत के घाट उतार दिया।

Facebook Comments