गोदी सरकार : पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर हमारा कोई काबू नहीं : रविशंकर प्रसाद

पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार बढ़ोत्तरी के खिलाफ कांग्रेस और विपक्षी दलों के ‘भारत बंद’ को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने असफल करार दिया है. इसके साथ ही विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर विपक्ष को घेरते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सवालिया लहजे में कहा है, ‘क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से होगी?’ रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा, ‘भारत बंद के नाम पर पेट्रोल पंपों में आग लगाई गई और बसों-गाड़ियों को तोड़ा गया. कांग्रेस को जवाब देना चाहिए कि भारत बंद के दौरान हुई इस हिंसा का जिम्मेदार कौन है.’ वहीं बिहार के जहानाबाद में विरोध प्रदर्शन के कारण एक एम्बुलेंस के सही समय पर अस्पताल न पहुंचने के चलते एक बच्ची की मौत पर भी रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया है और पूछा है कि इस घटना का जिम्मेदार कौन है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दामों पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है. उन्होंने दलील दी कि अंतरराष्ट्रीय कारणों के चलते डीजल और पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि हुई है. इसके साथ रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि आज महंगाई साल 2014 की तुलना से कम है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा लगाए आरोपों पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं एक आम कार्यकर्ता हूं और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जीएसटी और नोटबंदी पर बहस की चुनौती देता हूं. वे बड़े अर्थशास्त्री हैं. तथ्यों के साथ मुझसे बहस करें. वे मेरे आग्रह को स्वीकार करें.’

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सोमवार को कांग्रेस समेत 22 राजनीतिक दलों ने भारत बंद का आह्वान किया था. अब तक मिली जानकारियों के मुताबिक इस बंद का खासा असर देखने को मिला है. बंद के तहत दिल्ली में हो रहे सरकार विरोधी प्रदर्शन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी समेत पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी शामिल हुए.

Facebook Comments