स्वर्ण मंदिर की और चमक बढ़ाएगा 160 किलोग्राम सोना

अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में चमक बढ़ाने को मुख्य गुंबद के अलावा चार अन्य गुंबदों (ड्योढ़ी) पर करीब 50 करोड़ रुपये के 160 किलोग्राम सोने की परत चढ़ाई जाएगी। इसके लिए श्रद्धालु उदारता के साथ सोने के गहने दान कर रहे हैं।
सिखों के शीर्ष निकाय शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के अतिरिक्त सचिव दलजीत सिंह बेदी ने बताया कि एसजीपीसी ने स्वर्ण मंदिर के प्रवेश द्वार को खूबसूरत बनाने का फैसला किया था। इसके लिए इसके गुंबद पर सोने की परत चढ़ाने का निर्णय किया गया था। उन्होंने बताया कि एसजीपीसी ने गुंबद पर परत चढ़ाने का काम सिख स्वयंसेवी बाबा कश्मीर सिंह भूरीवाले को सौंपा है। बेदी ने बताया कि भूरीवाला ने स्वर्ण मंदिर के संगमरमर परिधि में अपना कैबिन बनाया है, जहां भक्त इस काम के लिए अपने सोने के आभूषणों और नकदी दान दे रहे हैं। अन्य तीन द्वारों पर लगे तांबे के गुंबदों के बारे में पूछने पर बेदी ने कहा, ‘फिलहाल उनपर सोने की परत चढ़ाने की कोई योजना नहीं है।’ उन्होंने कहा कि मुख्य द्वार पर स्थित गुंबद पर सोने की परत चढ़ाने का काम तेजी से किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि सोने की परत चढ़ाने में लगभग 50 करोड़ रुपये के 160 किलोग्राम सोना का इस्तेमाल होना है।

चारों गुंबद में से प्रत्येक पर 40 किलो सोना चढ़ेगा
एसजीपीसी के प्रवक्ता दलजीत सिंह बेदी ने बताया, ‘हरमंदिर साहेब के चारों में से हर एक गुंबद पर 40 किलोग्राम सोने की परत चढ़ाई जानी है। बीते अप्रैल महीने से ही कार सेवक घंटाघर स्थित ड्योढ़ी पर सोने की परत चढ़ाने का काम कर रहे हैं।  इसका काम पूरा होने के बाद बाकी गुंबदों पर सोने की परत चढ़ाई जाएगी।

Facebook Comments