एक महीने में ही गोमती एक्सप्रेस के शान-ए-अवध कोच से टोटियां गायब, टूटी कुर्सियां

दिल्ली जाने वाली गोमती एक्सप्रेस में रेलवे ने शान-ए-अवध कोच लगाए हैं। महज एक महीने में ही ट्रेन के बाथरूम में लगी टोटियां गायब हो चुकी हैं। कुर्सियों पर लगी रैक्सीन फट गई है। कुर्सियों के पीछे सामान रखने के लिए बने बॉक्स टूट चुके हैं। शनिवार को उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार गोमती का औचक निरीक्षण करने पहुंचे, तो वह खुद हैरान रह गए। सुबह 6 बजे वह गोमती एक्सप्रेस में सवार हुए। उन्होंने कानपुर तक सारे कोचों को निरीक्षण किया। डीआरएम ने अधिकारियों को गोमती एक्सप्रेस में टोटियां लगाने व अन्य कार्य जल्द करने के निर्देश दिए हैं।

गोमती एक्सप्रेस में डीआरएम सतीश कुमार समेत कई अधिकारी सुबह 6 बजे यात्रियों के साथ सफर करने पहुंचे। उन्होंने कोचों का निरीक्षण किया। वहीं, डीआरएम ने भी रेल संचालन को लेकर यात्रियों से फीडबैक लिया। सुबह 7.45 बजे कानपुर तक डीआरएम सतीश कुमार ने एसी, सेकेंड सीटिंग व जनरल समेत करीब 24 कोचों का निरीक्षण किया। वहीं, यात्रियों ने गोमती की लेटलतीफी दूर करने की बात कही।

यात्री ही बर्बाद कर रहे हैं अपनी ट्रेन
रेलवे ने जिन यात्रियों को सुविधा देने के लिए गोमती एक्सप्रेस में शाने अवध कोच लगाए थे। वहीं यात्री अब ट्रेन की बखियां उधेड़ रहे हैं। यात्रियों की सहूलियत के लिए रेलवे ने सेकेंड सिटिंग क्लास में आरामदायक सीटें लगाई थी। यात्रियों ने धीरे-धीरे करके उसकी पूरी रैक्सीन उखाड़ दी है। कुर्सियों के पीछे लगे बाक्स को भी तोड़ दिया गया है। यहां तक मुंह व हाथ धोने के लिए लगी टोटियां तक तोड़ दी गई हैं। बाथरूम में लगी कुछ टोटियां तो गायब ही हो गई हैं। कूड़ा फेंकने के लिए लगे डस्टबिन तक गायब हो गए हैं।

गोमती एक्सप्रेस में ये हैं सुविधाएं
-एसी कोचों में वाई-फाई की सुविधा
-कोचों में कॉफी मशीन की सुविधा
-यात्रियों के पढ़ने के लिए लाइब्रेरी
-बैठने के लिए चौड़ी आरामदायक सीटें
-एलएचबी कोचों से युक्त पूरी ट्रेन
-सेकेंड सीटिंग में बैठने के लिए नई आरामदायक सीटें

उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार के अनुसार यात्रियों की जिम्मेदारी है कि वह ट्रेन का ख्याल रखें। ये सुविधाएं उनके लिए ही है। ट्रेन में लगे सामान को नुकसान पहुंचाने में उनको ही असुविधा होगी। फिलहाल कोचों की दशा फिर से सुधारने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए हैं

रेलवे ने पकड़े 319 बेटिकट यात्री
लखनऊ। उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार के नेतृत्व में शनिवार को सघन चेकिंग अभियान चलाया गया। अभियान में आधा दर्जन से अधिक ट्रेनों को चेक किया गया। इसमें बेटिकट सफर करते हुए 319 यात्रियों को पकड़ा गया। रेलवे ने इनसे 1,34,275 रुपए जुर्माना वसूल किया। इसके अलावा डीआरएम ने यात्रियों से बातचीत की।

Facebook Comments