11 दिन बाद इस शख्स को उनका मेट्रो में खोया हुआ पर्स वापस मिला…

 

गुरप्रीत नाम के एक शख्स को उनका मेट्रो में खोया हुआ पर्स वापस मिल गया। एनडीटीवी के अनुसार 24 साल के गुरप्रीत सिंह केंद्रीय सचिवालय से लाजपत नगर जा रहे थे।

ज्यादातक तो वापस नहीं मिल पाते लेकिन जो मिल जाते हैं वो खुद को खुशनसीब समझते हैं। हालांकि 24 साल के गुरप्रीत इस मामले में वाकई खुशनसीब हैं क्योंकि उन्हें उनका खोया हुआ पर्स ठीक उसी हालात में वापस मिल गया। गुरप्रीत का पर्स एक शख्स को मिल गया और उसने डाक के जरिये वापस गुरप्रीत का पर्स भेजा। इस घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि दुनिया में इंसानियत आज भी जिंदा है। गुरप्रीत ने सोशल मीडिया के जरिये उस शख्स को शुक्रिया कहा है।

जब वो लाजपत नगर मेट्रो स्टेशन ऊतरे, तब उन्हें एहसास हुआ कि उनके पर्स उनकी जेब में नहीं है। इसके बाद गुरप्रीत तुरंत कस्टमर केयर के पास गए।

मेट्रो अधिकारियों ने उन्हें तब तक इंतजार करने के लिए कहा जब तक मेट्रो अपने आखिरी स्टेशन सरिता विहार नहीं पहुंच जाती। इसके बाद भी गुरप्रीत को उनका पर्स नहीं मिला। गुरप्रीत ने आगे कहा कि 26 मार्च को मुझे भारतीय डाक का एक पार्सल मिला जिसमें मेरा पर्स और एक खत था। उस खत में लिखा था- मुझे आपका पर्स दिल्ली मेट्रो मे मिला और मैं इसे लौटा रहा हूं। गुरप्रीत का पर्स नोएडा निवासी सिद्धार्थ मेहता को मिला था।

Facebook Comments