हेयर स्मूदनिंग करने से बचें वरना आप भी हो जायेंगे ऐसे…

मामला बेंगलुरु का है। यहां विल्‍सन गार्डेन की रहने वाली निशा बटाविया नाम की महिला को हेयर स्मूदनिंग कराना भारी पड़ गया। बता दें कि महिला ने 2 अक्‍टूबर साल 2016 को सलून में हेयर स्मूदनिंग कराया था। इसके तीन दिन के अंदर ही उनके बाल बड़ी मात्रा में झड़ने लगे। दरअसल, स्मूदनिंग के दौरान इस्तेमाल किए गए कैमिकल की वजह से महिला के पूरे बाल झड़ गए।

निशा ने अपना ये हाल देखकर सलून में परेशानी बताई तो स्‍टाफ ने दोबारा ट्रीटमेंट देने का वादा किया। इसके बाद 17 अक्‍टूबर 2016 को लोरियाल की एक हेयर स्‍पेशलिस्‍ट ने निशा के बालों की जांच की।

इसके बाद बाल झड़ने रुकने के बजाए और तेजी से झड़ने लगे। निशा ने पांच बार ट्रीटमेंट लिया इसके बावजूद उनके बाल झड़ना नहीं रुके। आखिर परेशान होकर निशा ने डॉक्‍टर से ट्रीटमेंट ली।

निशा ने कॉस्मेटिक प्रोडक्ट बनाने वाली लोरियाल और जयनगर सलून के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। आपको बता दें कि निशा ने कंपनी और सलून पर 15 लाख रुपए मुआवजे की मांग की। वहीं अदालत ने महिला के पक्ष में फैसला सुनाते हुए 31 हजार रुपए जुर्माना देने के लिए कहा है।

 

Facebook Comments