हनुमान जी की भक्ति करने से सामर्थ्य व शक्ति प्राप्त,सोया हुआ भाग्य उदित….

अगर धन लाभ की स्थितियां बन रही हों किन्तु लाभ नहीं मिल रहा हो तो गोपी चंदन की नौ डलियां लेकर केले के वृक्ष पर टांग देनी चाहिएं। स्मरण रहे यह चंदन पीले धागे से ही बांधना है।

शुद्ध चित्त होकर हनुमान जी की भक्ति करने से सामर्थ्य व शक्ति प्राप्त होती है। इनकी पूजा-अर्चना करने से सोया हुआ भाग्य उदित हो जाता है। वह भगवान शिव के 11वें अवतार माने जाते हैं, जो वानर देव के रूप में इस धरती पर राम भक्ति और राम कार्य सिद्ध करने के लिए अवतरित हुए।

हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी हैं इसलिए इन्हें जनेऊ भी पहनाई जाती है। हनुमान जी की मूर्तियों पर सिंदूर और चांदी का वर्क चढ़ाया जाता है। मनोकामना पूर्ति और हर तरह के मंगल के लिए इन्हें इमरती का भोग लगाना भी शुभ होता है। बजरंगबली चमत्कारिक सफलता देने वाले देवता माने गए हैं। उनके ये टोटके विशेष रूप से धन प्राप्ति के लिए किए जाते हैं। साथ ही ये उपाय हर प्रकार के अनिष्ट भी दूर करते हैं:

कच्ची घानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें। संकट दूर होगा और धन भी प्राप्त होगा।

एक नारियल पर कामिया सिंदूर, मौली, अक्षत अर्पित कर पूजन करें। फिर हनुमान जी के मंदिर में चढ़ा आएं। धन लाभ होगा।

Facebook Comments