हार्दिक का अनशन तुड़वाएं रूपाणी: गहलोत

कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने किसानों का कर्ज माफ करने और पाटीदार समाज को आरक्षण देने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल कर रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के स्वास्थ्य को लेकर ङ्क्षचता जाहिर करते हुए कहा है कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए।

गहलोत ने ट्वीट किया, हार्दिक पटेल 25 अगस्त से भूख हड़ताल पर हैं। उनके स्वास्थ्य की बिगड़ती स्थिति को लेकर हम चिंतित हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री को समय गवाएं बिना इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए और उनकी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल समाप्त करानी चाहिए। उन्होंने हार्दिक पटेल से भी हड़ताल खत्म करने का अनुरोध किया और कहा मैं हार्दिक पटेल से भूख हड़ताल समाप्त करने का आग्रह करता हूं। उन्हें अपना संघर्ष जारी रखना चाहिए लेकिन भूख हड़ताल समाप्त करनी चाहिए क्योंकि भारतीय जनता पार्टी को इससे फर्क नहीं पड़ता है। उन्हें इसकी कोई परवाह नहीं है। वे फासीवादी लोग हैं और उन्हें लोकतंत्र में भरोसा नहीं है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि राजस्थान में गुरुशरण छाबड़ा जी ने भूख हड़ताल की थी लेकिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस मामले में हस्तक्षेप नहीं किया और उनका निधन हो गया। उन्होंने कहा कि जब भाजपा को अपने विधायक की चिंता नहीं है तो उससे दूसरों के लिए उनसे उम्मीद नहीं की जानी चाहिए। भाजपा की यह मानसिकता है। गुरुशरण छाबड़ा साहब जब भूख हड़ताल करते थे तो मुख्यमंत्री के रूप में वह उनके पास जाते थे और उनकी हड़ताल तुड़वाते थे। मुख्यमंत्री राजे के कार्यकाल में भूख हड़ताल के कारण उन्होंने दम तोड़ दिया।

गौरतलब है कि हार्दिक पटेल पिछले दस दिन से पाटीदारों को आरक्षण देने और किसानों का कर्ज माफ करने के लिए भूख हड़ताल पर हैं। उनकी भूख हड़ताल को विभिन्न राजनीतिक दलों का समर्थन मिल रहा है।

Facebook Comments