हाईकोर्ट की केजरीवाल सरकार को फटकार, कहा- अपने मुख्य सचिव की इज्जत करें

दिल्ली हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की याचिका पर सुनवाई करते हुए अरविंद केजरीवाल सरकार को आड़े हाथों लिया है. कोर्ट ने साफ़ कहा है कि आप दोनों को बैठकर आपस में बात करनी चाहिए थी, लेकिन सरकार अपने चीफ सेक्रेट्री की इज़्ज़त ही नहीं कर रही है.

हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से सवाल किया कि आप ही लोगों के साथ ऐसा बार-बार क्यों हो रहा है. आप लोग अपने अधिकारियों के साथ क्यों नहीं एक म्यूच्युअल मीटिंग कर रहे हैं? आप अपने मुख्य सचिव की इज्ज़त क्यों नहीं करते?

बता दें कि इससे पहले अंशु प्रकाश ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर करके दिल्ली विधानसभा की विशेषाधिकार समिति के उस आदेश पर रोक लगाने की मांग की थी, जिसमें उन्हें और दो अन्य IAS अफसरों को 5 मार्च दोपहर 3 बजे समिति के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया था.

क्या है मामला
दरअसल पिछले महीने 21 फरवरी को दिल्ली विधानसभा की प्रश्न एवं संदर्भ समिति की बैठक थी, जिसमे मुख्य सचिव मुख्य सचिव अंशु प्रकाश, रजिस्ट्रार और कॉपरेटिव सोसाइटी जे बी सिंह और पूर्व रजिस्ट्रार ऑफ कॉपरेटिव सोसाइटी शूरबीर सिंह को बुलाया गया था. हालांकि तीनों IAS अधिकारियों में से ना कोई बैठक में आया ना ही कोई सूचना दी. इसके बाद ये मामला विशेषाधिकार समिति को भेज दिया गया और 1 मार्च को विधानसभा की विशेषाधिकार समिति ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश समेत तीनों IAS अधिकारियों को तलब किया.

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा की प्रश्न और संदर्भ समिति की बैठक दिल्ली नागरिक सहकारी बैंक में हुए करोड़ों रुपये के घोटाले में कार्रवाई और जवाबदेही तय करने के लिए की गई थी. बीते दिनों मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित रूप से हुई मारपीट के बाद अधिकारियों ने फैसला किया है कि वो अब किसी मंत्री या विधायक के साथ तब तक बैठक नही करेंगे जब तक केजरीवाल माफ़ी नही मांगते.

Facebook Comments