महादेव ने खुद दिया था वरदान…हिमालय में है ये दिव्य आश्रम, जो इंसान इसमें जबतक रहेगा

हिमालय जो दुनिया के सबसे रहस्यमई जगहों में से एक मानी जाती है। हिमालय में ऐसी कई राज दफन है जो आज के वैज्ञानिक जगत के समझ से परे है। दोस्तों उन्हीं रहस्यों में से आज हम आपसे बात करेंगे ज्ञानगंज के बारे में जिसे शांग्रीला संभाला और सिद्धाश्रम नाम से भी जाना जाता है। ज्ञानगंज मठ हिमालय में एक छोटी सी जगह है जो भारत में ही नहीं बल्कि तिब्बत में भी फेमस है।

जिसके बारे में कहा जाता है कि यहां अमर होने का राज छुपा है। ये एक ऐसी जगह है जो सिर्फ सिद्ध पुरुषों को ही आसानी से मिलती है। यहां आम मनुष्य नहीं पहुंच पाता। ज्ञानगंज में कोई मृ’त्यु नहीं होती यहां रहने वाले सन्यासियों की उम्र रुक जाती है। आश्चर्य की बात तो यह है कि ये ना तो खुली आंखों से दिखाई देती है और ना ही यह सेटेलाइट में दिखती है। ये जगह किसी खास धर्म और कल्चर का नहीं है। इस जगह का जिक्र वाल्मीकि रामायण और महाभारत में संदर्भ आता है। जिसमें इसे सिद्धासन का नाम दिया गया है।

सिद्धाआश्रम एक ऐसा संसार है जिसमें परम शक्तिशाली योगियों सहित सतयुग, त्रेता और द्वापर युग के कई महान ऋषियों जिसमे राम कृष्ण, विश्वामित्र, वशिष्ठ कृपाचार्य आदि का समय-समय पर विचरण होता रहता है। दोस्तों जब तक विज्ञान की कसौटी पर कोई तथ्य साबित नहीं हो जाता तब तक उसे एक रहस्य का नाम दे दिया जाता है। पर समय समय पर परमयोगी और सन्यासियों द्वारा सिद्धाश्रम के बारे में सुना गया है। ये एक ऐसा जगत है जो हमारे जगत से कई ज्यादा उन्नत है।

Facebook Comments