फिल्मी रोबोट का इंसानों पर हमला..

सोफिया के रूप में दुनिया के सामने पहली ऐसी रोबोट मौजूद है, जिसे एक देश की नागरिकता भी हासिल है। पिछले कुछ ही समय में सोफिया ने खूब सुर्खियां बटोरी हैं। अपनी खास आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) के दम पर सोफिया कई जगह स्पीच देती भी दिखी हैं। निकट भविष्य में सोफिया की तरह ही आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से सुसज्जित और भी कई रोबोट देखने को मिलेंगे। इस स्टोरी में हम उन पर भी बात करेंगे। हॉलीवुड, बॉलीवुड और कई अन्य भाषायी सिनेमा में कई ऐसी फिल्में बन चुकी हैं, जिसमें इंसानों और रोबोट के बीच लड़ाई को दिखाया गया है। हाल के दिनों में रोबोट की तरफ से कई डराने वाली खबरें भी आ रही हैं। जिसमें मौजूदा रोबोट अपनी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल कर इंसानों पर हमले तक की बातें कर रहे हैं। पहले जानते हैं रोबोट की फिल्मी कहानी…

फिल्मी रोबोट का इंसानों पर हमला

आपने दक्षिण के सुपरस्टार रजिनीकांत की फिल्म रोबोट (एनथिरन) जरूर देखी होगी। इस फिल्म में चिट्ठी नाम के रोबोट को वैज्ञानिक वसीगरन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ पेश करता है। लेकिन एक अन्य वैज्ञानिक चिट्ठी की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ छेड़छाड़ करके चिट्ठी को खतरनाक बना देता है। धीरे-धीरे चिट्ठी नाम का यह रोबोट इंसान का दुश्मन बन जाता है। सारी सुरक्षा व्यवस्था मिलकर भी चिट्ठी का मुकाबला नहीं कर पाती। ऐसी ही कई फिल्में हॉलीवुड में भी बन चुकी हैं। ‘टर्मिनेटर सीरीज’ की फिल्में उनमें प्रमुख हैं। ‘द मैट्रिक्स’ और ‘एआई. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’ जैसी फिल्मों को भी इसी श्रेणी में रखा जा सकता है। ये वो फिल्में हैं जिनमें रोबोट को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मिलती है और फिर वह इंसान के नियंत्रण से बाहर हो जाता है

तो क्या इंसानों के लिए खतरा बन जाएंगे रोबोट

अब सवाल यह है कि क्या सच में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के दम पर रोबोट इंसान के नियंत्रण से बाहर हो सकता है। अगर इसका जवाब फिल्मों में तलाशेंगे तो जवाब हां है। यही नहीं मशहूर स्पेस साइंटिस्ट स्टीफन हॉकिंग और हाल में मंगलग्रह के लिए अपनी एक कार भेजने वाले उयोगपति एलन मस्क को भी रोबोट से ऐसा ही खतरा महसूस होता है। शायद यही वजह है कि वे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को मानव सभ्यता के लिए खतरा मान रहे हैं। हालांकि कई अन्य विशेषज्ञों का कहना है कि रोबोट के खतरे को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है। लेकिन हाल के दिनों में रोबोट कई ऐसी बड़ी गलतियां कर चुके हैं, जिससे लोगों में इसे लेकर डर बढ़ रहा है। हालांकि रोबोट या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस निकट भविष्य में मानव सभ्यता के लिए खतरा साबित हों, ऐसा कम ही लोग मानते हैं। लेकिन हाल में हुई कुछ घटनाओं ने सभी को भविष्य के प्रति डरा जरूर दिया है।

आज रात क्यो न तुम्हारी हत्या कर दी जाए

हाल ही में एक बड़ी कंपनी के डिजिटल असिस्टेंस ने ऐसा कुछ किया, जिसने यूजर को डराकर रख दिया। बता दें कि इस डिजिटल असिस्टेंस में भी आर्टिफिशियत इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया गया है। एक यूजर ने अपने ट्विटर हैंडल पर जानकारी दी की जब वह बिस्तर पर सो रहा था, तभी इस डिजिटल असिस्टेंस से अचानक हंसी की आवाज आने लगी। इसके बाद आवाज आयी- ‘यह अच्छा मौका है, आज रात क्यों न तुम्हारी हत्या कर दी जाए।’ यूजर बुरी तरह से डर गया और उस वक्त संभवत: उसे भी ‘टर्मिनेटर: राइज ऑफ द मशीन्स’ फिल्म याद आ गई होगी। हालांकि बुधवार 7 मार्च को कंपनी ने बताया कि उसके डिजिटल असिस्टेंस में एक बग आ गया है, जिसे वह ठीक करने की कोशिश कर रही है। इसी बग की वजह से डिजिटल असिस्टेंस से हंसने जैसी अजीब प्रतिक्रिया होती है।

 

जब सोफिया ने कहा- इंसानों को खत्म कर दूंगी

हाल के दिनों में रोबोट सोफिया खासी मशहूर हुई है। सऊदी अरब पहला ऐसा देश है जिसने रोबोट सोफिया को अपने देश की नागरिकता दी है। हाल में सोफिया भारत भी आयी थी। करीब दो साल पहले टेक्सास के शो में एंकर ने मजाक में सोफिया से पूछा था कि क्या आप इंसानों को खत्म करना चाहती हैं? कृपया न कहिए? इस पर सोफिया ने जो जवाब दिया वह हैरान करने वाला था। सोफिया ने कहा- ओके, मैं इंसानों को खत्म कर दूंगी। हालांकि यह साफ नहीं हुआ कि यह एक मजाक था या कोई तकनीकी खराबी।

 

इंसानों की मदद करेगी एआई

एआई यानी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस निकट भविष्ट में इंसानों की मदद करती नजर आएगी। गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक सहित तमाम कंपनियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम कर रही हैं। यह स्वचालिक कारों के रूप में भी सामने आ सकती है। कई कंपनियां ऐसी कारें बनाने में लगी हुई हैं, जिनमें ड्राइवर नहीं होगा और वे आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के सहारे चलेंगी।

Facebook Comments