पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार को हमसफर एक्सप्रेस की दी सौगात,जानिए इसकी ख़ासियत….

आइए आपको बताते हैं कि इस ट्रेन का किराया कितना होगा, इसमें क्या खूबियां होंगी और ये किन स्टेशनों से होकर गुज़रेगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि ये आम लोगों की ट्रेन है और इसमें कई मॉडर्न सुविधाएं हैं। इसके डब्बों में मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट से लेकर हर यात्री की सीट पर रौशनी की व्यवस्था होगी जिससे वो पढ़ सकें। हर कोच में बच्चों की नैपी बदलने की सुविधा भी है।

कल चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी समारोह के समापन के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार को हमसफर एक्सप्रेस की सौगात दी।

यह ट्रेन बिहार को दिल्ली से आसानी से जोड़ती है। वहीं ये ट्रेन बिहार के कटिहार जिले से पुरानी दिल्ली के बीच दौड़ेगी। इस दौरान ये ट्रेन कुल 1472 किलोमीटर का सफर तय करेगी जिसमें इसे 30 घंटे लगेंगे। इस ट्रेन को मिडिल क्लास का ट्रेन बताया जा रहा है और कहा जा रहा है कि ये कम कीतम में तेज़ सफर का साथी साबित होगी। इसका ट्रेन नंबर 15705 है।

आपको दें कि पहली हमसफर एक्सप्रेस को 16 दिसंबर 2016 को लॉन्च किया गया था। इसे गोरखपुर से आंनद विहार के रूट के लिए शुरू किया गया था।

चाय और कॉफी बनाने की भी सुविधा होगी। इसमें एसी- 2 के कोच की तरह पर्दे लगे होंगे ताकि प्राइवेसी का मसला खड़ा ना हो। ट्रैन में लगी एलईडी स्क्रीन्स आने वाले स्टेशन और ट्रेन की स्पीड जैसी जानकारी से यात्रियों को रूबरू कराएगी।

इसके बर्थ को ज़्यादा आरामदायक बनाया गया है। इसमें यात्रियों को खादी के बिस्तर दिए जाएंगे। इसमें एक हीटिंग चैम्बर और एक रेफ्रिजरेटर बॉक्स भी होगा ताकि घर से लाए खाने को लोग ठीक रखे सकें और अपने मनपसंद समय पर गर्म करके खा सकें।सबसे बड़ी बात इस ट्रेन में फ्लेक्सी किराया लागू होगा, यानि डिमांड बढ़ने के साथ ही किराया बढ़ेगा।

 

बता दें की इस ट्रेन के किराये को ज्यादा नहीं रखा गया है। पुरानी दिल्ली से कटिहार के बीच इसका शुरुआती किराया 1,675 होगा और सबसे ज़्यादा किराया 2,681 रुपए होगा। तत्काल पर 880 रुपए का सरचार्ज लगेगा जो सामान्य से कहीं ज़्यादा है। पांच से 11 साल के बच्चों के लिए सीट नहीं लेने की स्थितमें किराया 879 रुपए होगा।

 

Facebook Comments