राशि के अनुसार होने वाले पति की विशेषताओं के बारे में…..

आज हम आपके लिए लाये है आपके राशि के अनुसार होने वाले पति की विशेषताओं के बारे में

मेष : जिस कन्या की कुंडली में सातवें भाव में मेष राशि होती है उसका पति कई भूमि-भवन का मालिक होने के साथ ही सुखी और समृद्धिशाली होता है.

वृष : जिन कन्याओं की कुंडली के सप्तम भाव में वृष राशि होती है उसका पति पत्नी की हर बात मानने वाला और बहुत प्यार करने वाला होता है.

मिथुन : जिन कन्याओं की कुंडली के सातवें भाव में मिथुन राशि होती है उनका पति एक चतुर व्यवसायी होने के साथ ही सामान्य, समझदार और अच्छे विचारों वाला होता है.

कर्क : जिन कन्याओं की कुंडली के सप्तम भाव में कर्क राशि होती है उनका जीवनसाथी सुन्दर रंग-रूप का धनि होता है.

सिंह : जिस भी कन्या की कुंडली के सातवें भाव में सिंह राशि होती है, उसका हमसफ़र ईमानदार होता है परन्तु वह खुद की बात मनवाने वाला होता है.

कन्या : जिस कन्या की कुंडली में सप्तम भाव में कन्या राशि विराजमान होती है उनका पति सुन्दर और गुणवान तो होता ही है साथ ही इन लड़कियों का जीवन विवाह के बाद और अच्छा हो जाता है.

तुला : जिन कन्याओं की कुंडली के सातवें भाव में तुला राशि स्थित होती है उनका पति शिक्षित और सुंदर होने के साथ ही हर समस्या में पत्नी का साथ देने वाला होता है.

वृश्चिक: जिस भी कन्या की कुंडली के सातवें भाव में वृश्चिक राशि होती है उसका पति सुशिक्षित होने के साथ कठिन परिश्रम करने वाला होता है.

धनु : जिन कन्याओं की कुंडली के सप्तम भाव में  धनु राशि विराजमान होती है. उनका जीवनसाथी सामान्य परिवार का सदस्य और स्वाभिमानी प्रवृति का होता है.

मकर : जिन कन्याओं की कुंडली के सातवें भाव में  मकर राशि स्थित होती है. उसका पति धार्मिक कर्मों में अत्यधिक रूचि रखने वाला होता है.

कुम्भ : जिन कन्याओं की कुंडली के सप्तम भाव में कुम्भ राशि होती है उनका हमसफ़र धर्मालु और सभ्य होता है.

मीन : जिस भी कन्या की कुंडली के सातवें भाव में मीन राशि विराजमान होती है. उनको आकर्षक व्यक्तित्व वाले गुणवान और धार्मिक पति की प्राप्ति होती है

Facebook Comments