किसी के बेहोश हो जाने पर उनकी मदद कैसे करें

बेसुध या बेहोश होना इस बात का संकेत हैं कि आपके मस्तिष्क तक पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं पहुंच रहा है। इसके व्यक्ति थोड़े समय के लिए बेहोश हो जाता है। बेहोश होने के समय में व्यक्ति की कोई भी इंद्री काम नहीं करती है और अक्सर शरीर पर नियंत्रण खो जाता है। हालांकि, बेहोशी के बाद व्यक्ति को एक या दो मिनट के भीतर होश आ जाता है लेकिन कुछ मामलों में अधिक समय लग सकता है। इसके अलावा, कुछ चिकित्सकीय कारण भी हैं जिनके कारण व्यक्ति बेहोश हो जाता है। रक्तचाप का कम होना, दिल से जुड़ी समस्याएं, डिहाइड्रेशन, अचानक किसी चीज से आघात लगना, अत्यधिक तनाव आदि समस्याएं संभावित कारण हो सकती हैं। किसी व्यक्ति के बेहोश होने पर उसे उचित प्राथमिक चिकित्सा देना जरुरी है। आइए जानते हैं किसी के बेहोश हो जाने पर उनकी मदद कैसे करें।

  • अगर कोई व्यक्ति आपके सामने बेहोश हो जाता है, तो उस व्यक्ति को होश में लाने के लिए तुरंत मदद करें।
  • जब कोई व्यक्ति बेहोश हो जाए तो घबराए नहीं। शांत रहें और यदि वह गिरने की संभावना में है, तो उन्हें पकड़ ले। यह उनके शरीर को किसी प्रकार की चोट लगने से बचाने में मदद करेगा।
  • व्यक्ति के चारों ओर अधिक लोगों को इकट्ठा ना होने दें। व्यक्ति को सही ढंग से सांस लेने के लिए हवा आने दें।
  • उन्हें पीठ के बल लिटाएं। इससे उनके हृदय को खून पंप करने और मस्तिष्क को भेजने में आसानी होगी। ध्यान दें कि उन्होंने टाई नहीं पहना हो। कॉलर बटन को खोल दें। इससे बहुत से लोग बेहोशी के 20-25 सेकंड के भीतर होश में आ जाते हैं।
  • व्यक्ति के पैरों को सीधा कर दें। इससे शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर करने में मदद मिलेगी।
  • जब व्यक्ति को होश आ जाएं तो उसे उठने और या चलने के लिए ना कहें। उन्हें कुछ मिनटों तक लेटे रहने दें। इस समय, शरीर को आराम करने की आवश्यकता होती है।
  • यदि व्यक्ति को होश ना आए तो उनकी गर्दन को छूकर पल्स रेट की जांच करें। बिना किसी देरी के तुरंत डॉक्टर को बुलाएं। इस बीच, आप उनके चेहरे पर कुछ पानी छिड़कें।
  • बेहोश व्यक्ति को सीपीआर दें। उनकी छाती दबाएं। जब तक डॉक्टर आए तब तक व्यक्ति के छाती पर दबाव डालते रहें
Facebook Comments