बड़ी खबर : मेरे हार काम में सत्यता, पवित्रता और ईमानदारी है : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल के पहले दिन 2019 का पहला इंटरव्यू दिया है.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल पर 2019 का पहला इंटरव्यू दिया है. यह इंटरव्यू 95 मिनट का है. पीएम मोदी कई मुद्दों पर अपनी राय रखी. प्रधानमंत्री मोदी ने साफ किया कि राम मंदिर पर अध्यादेश पर तभी विचार किया जाएगा जब न्यायिक प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि न्यायिक प्रक्रिया इसलिए धीमी है क्योंकि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधा खड़ी कर रहे हैं. हमने अपनी पार्टी के घोषणा पत्र में कहा है कि इस मुद्दे पर संविधान के दायरे में हल निकलने का प्रयास किया जाएगा.

तीन तलाक के मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा, “तीन तलाक पर अध्यादेश सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद लाया गया. सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले को पीएम मोदी ने करारा जवाब देते हुए कहा कि यह फैसला काफी जोखिमभरा था. सैनिकों से सूर्योदय से पहले लौटने की अपील की थी. आरबीआई बनाम सरकार के मामले पर पीएम मोदी ने कहा, “आरबीआई के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल ने खुद इस्तीफा देने की पेशकश की थी.’

आरबीआई बनाम सरकार के मामले पर पीएम मोदी ने कहा, “आरबीआई के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल ने खुद इस्तीफा देने की पेशकश की थी. उर्जित ने आरबीआई गवर्नर के तौर पर अच्छा काम किया. वह पिछले 6-7 माह से इस्तीफा देना चाह रहे थे.’ नोटबंदी के मुद्दे पर कहा, “नोटबंदी जनता के लिए झटका नहीं. यह अचानक लिया गया फैसला नहीं था. एक साल पहले की कालाधन वालों को आगाह किया गया था.”

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा, “जो चार पीढ़ियों से देश चला रहे थे, वो आज जमानत पर हैं. परिवार के दरबारी जमानत का सच छुपा रहे हैं.” पाकिस्तान को प्रधानमंत्री मोदी ने चेतावनी देते हुए कहा, “एक लड़ाई से पाकिस्तान सुधर जाएगा, ये सोचना बहुत बड़ी गलती होगी. पाकिस्तान को सुधरने में अभी और समय लगेगा.”

2018 में तीन राज्यों में मिली हार पर पीएम मोदी ने कहा, “चुनाव कई पहलुओं को समेटता है. आयुष्मान भारत योजना में गरीब को 5 लाख तक इलाज मुफ्त मिल सकता है. मेरे लिए यह काफी संतोषजनक है. भारत अनेक ऊंचाइयों को पार करता रहा. तेलंगाना और मिजोरम में बीजेपी को सत्ता मिलने की उम्मीद नहीं कर रहा था. छत्तीसगढ़ में जरूर नतीजा साफ आया लेकिन राजस्थान और मध्य प्रदेश में खंडित जनादेश मिला. हम अपनी हार की समीक्षा कर रहे हैं. सत्ता-विरोधी लहर 15 साल के कारण रही. हरियाणा के स्थानीय चुनाव में हमें जीत मिली है.”

‘मोदी लहर’ पर पीएम ने कहा कि अगर विपक्ष के नेता इस पर सवाल उठाते हैं तो इस तथ्य से साफ है कि वे मोदी लहर को स्वीकार करते हैं. उन्होंने कहा कि लहर जनता की आशा और आकांक्षाओं की होती है.

‘कांग्रेस मुक्त भारत’ के सवाल पर उन्होंने कहा, “मैंने पहले भी इस पर विस्तार से कहा है. कांग्रेस के लोग कहते हैं कि कांग्रेस एक सोच है. कांग्रेसी कल्चर में जातिवाद, भाई-भतीजावाद, भ्रष्टाचार शामिल है. मैं जब कांग्रेस मुक्त भारत कहता हूं तो इसका मतलब इन सबसे मुक्ति दिलाना है. कांग्रेस को भी इससे दूर होना होगा. ”

मोदी-शाह के मैजिक और जिम्मेदारी स्वीकारने के बारे में पीएम ने कहा, “अगर कोई यह कहता है कि बीजेपी केवल मोदी-शाह के भरोसे चलती है तो वह बीजेपी को अच्छी तरह से नहीं जानते. मेरा बूथ, सबसे मजबूत ही हमारा मूलमंत्र है. बीजेपी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है. मेरा बूथ सबसे मजबूत ही हमारी सफलता का राज है.”

नीरव मोदी और माल्या के देश के भागने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, “भगोड़ों की संपत्ति भी जब्त की जा रही है. उन पर कठोर कार्रवाई की जा रही है. आज नहीं तो कल ये सब देश वापस लाए जाएंगे. उनकी विदेशों की संपत्ति जब्त की जा रही है.” कांग्रेस द्वारा जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ प्रचारित किए जाने के मामले पर पीएम मोदी ने कहा कि जिसकी जैसी सोच होती है, वैसे ही शब्दों का चयन करता है.

Facebook Comments