भारत और फ्रांस के बीच हुए 14 अहम समझौते, मोदी बोले जमीन से आसमान तक साथ काम करेंगे!

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मेंक्रो चार दिवसीय भारत यात्रा पर शुक्रवार को दिल्ली पहुंचे, जहां भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका उत्साहपूर्वक स्वागत किया। अपने राजकीय दौरे के पहले दिन शनिवार को राष्ट्रपति मैक्रों अपनी पत्नि ब्रिगित मैरी क्लाउड के साथ सुबह राजघाट पहुंचे जहां उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। जिसके बाद राष्ट्रपति मैक्रों ने भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात की।

Image result for france president india visit rajghat

दोनों देशों के बीच सबसे अहम द्वीपक्षीय वार्ता से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति मैक्रों और उनकी पत्नी का राष्ट्रपति भवन में परंपरागत स्वागत किया। जहां, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को गॉड ऑफ ऑनर के खिताब से भी नवाजा गया। दोनों ही नेता प्रमुख वैश्विक देशों के प्रमुख हैं जिन्होंने भारत और फ्रांस के बीच बेहतर संबंधों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में 14 अहम समझौते पर सहमति जताई है। इतना ही नहीं, हैदराबाद हाउस में आयोजित प्रैस वार्ता के दौरान दोनों देशों के प्रतिनिधियों ने आपसी समझौते की फाइलों का भी आदान-प्रदान किया।

जानकारी के लिए बता दें कि, शनिवार सुबह हैदराबाद हाऊस में पीएम मोदी और राष्ट्रपति मैक्रो के बीच कई मुद्दों पर द्वीपक्षीय बैठक हुई जिसके बाद दोनों नेताओं ने मिलकर प्रैस कॉफ्रेंस में संबाददाताओं को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि, “मैं मैक्रों के स्वागत से खुश हूं। उन्होंने दिल खोलकर मेरा स्वागत किया है। भारत और फ्रांस दो समृद्ध और मजबूत देश हैं। दोनों देशों की साझेदारी सदियों पुरानी है। विश्व शांति के लिए भारत-फ्रांस के मैत्रीपूर्ण संबंध जरूरी हैं। हम मिलकर वैश्विक चुनौतियों का सामना करेंगे।”

गौरतलब है कि, फ्रांस और भारत के बीच योजनाबद्ध समझौतों के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में आपसी सहमति के साथ हस्ताक्षर हुए।

  • दोनों देशों के बीच हिंद महासागर में और आतंकवाद विरोधी नीति संबधी क्षेत्रों में संबंधों की मजबूती के लिए आपसी सहमति शामिल है।
  • भारत और फ्रांस के बीच आपसी सहमति वाले समझौतों में रक्षा, परमाणु ऊर्जा तथा अंतरिक्ष के क्षेत्र में रणनीतिक सहयोग शामिल है। बता दें कि, भारत और फ्रांस के बीच अंतरिक्ष क्षेत्रीय सहयोग रिछले पांच दशकों से भी पुराना और सक्रिय है।
  • वहीं, अक्षय ऊर्जा, उच्च गति वाली ट्रेन और व्यापार में भी सहयोग स्थापित करने के लिए कई संधियां हुई। इस बीच शहरी विकास और शिक्षा क्षेत्र में अहम समझौतों को अंजाम दिया गया है। इस मामले में मोदी ने कहा कि, दोनों देशों के बीच ज्वाइंट स्ट्रैटेजिक विजन स्थापित है, जिसके तहत शैक्षणिक योग्यता दोनों ही देशों में मान्य होगी और दोनों शक्तियां जमीन से आसमान तक मिलकर काम करेंगी।”

Image result for france president india visit

जाहिर है कि, हैदराबाद हाउस में दोनों नेताओं ने प्रैस कांफ्रैस साझा करते हुए अपने-अपने विचार रखें। इस दौरान राष्ट्रपति मैक्रों ने दिल्ली और पेरिस के बीच संबंधों को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि, ‘इस राजनयिक दौरे से दोनों देशों को द्वीपक्षीय समझौतों में आपसी सहभागिता के कारण एक नया आयाम मिलेगा।’ राष्ट्रपति मैंक्रो ने बताया कि, “मोदी ने पिछले वर्ष जुलाई में अपनी फ्रांस यात्रा के दौरान मोदी ने मुझे अपने देश आने का न्यौता दिया था। और अब मैं भारत आकर बहुत खुश हूं और स्वयं को गौरवाविंत महसूस कर रहा हूं।”

Facebook Comments