अपना देश छोड़ने वाले करोड़पतियों में सबसे अधिक भारत…..

कनाडा में रियल स्टेट कारोबारी और मेनस्ट्रीट इक्विटी कॉर्प के सीईओ बॉब ढिल्लों के मुताबिक, वो भारत से पलायन का ये तीसरा दौर देख रहे हैं। इससे पहले पंजाब के गरीब और छोटे किसानों ने पश्चिमी देशों का रुख किया और फिर काम के बेहतर माहौल की तलाश में भारतीय प्रोफेशनल्स ने भी देश छोड़ा। देश छोड़ने वाले सबसे अधिक अमीर इंटरनेशनल मार्केट को पकड़ने और अपने उद्यमी सपनों को पूरा करने के लिए अमेरिका जा रहे हैं।

इमिग्रेशन सर्विसेज देने वाली कंपनी EB5 के मुताबिक, व्यापारियों के लिए जल्द ग्रीन कार्ड हासिल करने के लिए अमेरिका का EB-5 इन्वेस्टमेंट रूट सबसे ज्यादा लोकप्रिय है, क्योंकि यह काफी सुरक्षित और कई अन्य देशों में नागरिकता के लिए प्रचलित तरीकों के मुकाबले काफी सस्ता भी है। अपने बच्चों को अमेरिका में पढ़ाने के लिए भी बहुत से परिवार इसी रूट से ग्रीन कार्ड हासिल करते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, कनाडा भी भारतीय करोड़पतियों के लिए काफी पसंदीदा देश है। कनाडा में लोगों को अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य और इन्फ्रास्ट्रक्चर मिलता है। भारतीय मूल के लोग यहां कई क्षेत्रों में अच्छा काम कर रहे हैं। मुंबई में वकालत करने वालीं वकील पूर्वी चोथानी कहती हैं कि 40 की उम्र पार कर चुके करोड़पति अभिभावक अपने बच्चों की शिक्षा के लिए पश्चिमी देशों में जाना चाहते हैं।

ग्लोबल लॉ फर्म फर्म डेविस ऐंड असोसिएट्स के ग्लोबल मैनेजिंग पार्टनर मार्क आई डेविस कहते हैं कि कुछ भारतीय पुर्तगाल और ग्रेनेडा जैसे देशों का आसानी से नागरिकता हासिल करने के बाद इसके सहारे अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन का रुख कर जाते हैं। उन्होंने कहा, ‘उद्यमी भारतीयों के लिए अमेरिका सबसे अच्छा अवसर उपलब्ध कराता है।

 

Facebook Comments