भारत की पोल डांसर मुस्लिम लड़की-फूहड़ नहीं लड‍़कियों की आजाादी का प्रतीक है पोल डांस

आज हम आपको मुंबई में रहने वाली एक ऐसी मुस्लिम महिला से मिला रहे हैं, जो एक पोल डांसर है। आरिफा एक प्रोफेशनल पोल डांसर हैं। एक चर्चित यूट्यूब चैनल पर कुछ महीने पहले आरिफा ने अपनी कहानी बताई थी।

 

मां ने दिया साथ और बन गईं पोल डांसर : आरिफा भिंडरवाला ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी मां नफीसा भिंडरवाला का यदि उन्हें साथ नहीं मिला होता तो वे कभी पोल डांसर नहीं बन पातीं। आरिफा के अनुसार, पोल डांस एक आर्ट और मेरा खुद का पैशन है। आरिफा बोहरा मुस्लिम समाज से आती हैं। वे खुद भले ही इतनी मॉडर्न हो गईं हो, लेकिन उनकी बहन आज भी हिजाब पहनती हैं।

 

मुंबई की इस पोल डांसर के लिए पोल डांस का मतलब है दिल खोलकर उड़ना। आरिफा जब भी डांस करती हैं तो खुद को आजाद समझती हैं। आरिफा का मानना है कि समाज में खराब माने जाने वाला पोल डांस लड़कियों की आजादी का प्रतीक है। ये सभी लड़कियों को समाज के नजरिये से आजाद करता है। आरिफा की बॉडी ही उनकी बेस्टफ्रेंड है। इतना ही नहीं आरिफा मुंबई में लड़कियों को पोल डांस भी सिखाती है। वह कहती हैं कि जब मैं पोल डांस सिखाती हूं, तो मैं खुद को एक ऐसी मां के तौर पर देखती हूं, जो अपने बच्चों को सही तरीके से जज नहीं करती।

Facebook Comments