पहली इंटरनेशनल सोलर अलायंस समिट की शुरुआत आज

भारत और फ्रांस की कोशिशों से आयोजित होने जा रहे पहले इंटरनेशनल सोलर अलायंस समिट का इनॉगरेशन रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों करेंगे। इसमें करीबन 23 राष्ट्राध्यक्ष और विभिन्न देशों के 10 मंत्रिमंडलीय प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। इसमें  इंटरनेशनल सोलर अलायंस से संबद्ध 121 देशों में सौर ऊर्जा के प्रोत्साहन के विभिन्न पहलुओं पर जोर दिया जाएगा।

रविवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में होने जा रहे समिट में सोलर एनर्जी के प्रमोशन के लिए विचार विमर्श किया जाएगा। साथ ही, अलग-अलग  देशों  के  सोलर प्रोजेक्‍ट्स भी शोकेस किए जाएंगे।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर सभी विदेशी मेहमानों का स्वागत किया। उन्होंने लिखा, ‘भारत इंटरनेशनल सोलर अलायंस समिट में आये गुयाना, टुवालू, डीआर कांगो, गाबोन, गांबिया, मडागास्कर, मलावी, मॉरीशस के गणमान्य लोगों का स्वागत है।

गौरतलब है कि 2015 में पीएम मोदी और फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने पेरिस में इंटरनेशनल सोलर एलायंस (ISA) का निर्माण किया था। अब फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों राष्ट्रपति भवन में इसके पहले समिट का इनॉगरेशन करेंगे।

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण प्रमुख एरिक सोल्हैम के मुताबिक, इंटरनेशनल सोलर अलायंस विस्तृत ऊर्जा सुरक्षा की दिशा में बड़ा कदम है। उन्होंने यह भी कहा कि जलवायु परिवर्तन और जनसंख्या के खिलाफ लड़ाई में यह मील का पत्थर  है।

Facebook Comments