बेलपत्र तोड़ते समय इन बातों का रखें ख्याल तो हो जाएंगे मालामाल

आज हम आपको बताने जा रहे हैं अगर आप बेलपत्र तोड़ते हैं तो कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें इस जानकारी को पाने के लिए आप हमें फॉलो करें और इस आर्टिकल को आप अंत तक जरूर पढ़ें ।

बेलपत्र तोड़ते समय इन बातों का रखें ख्याल तो हो जाएंगे मालामाल

हम सब अच्छी तरह जानते हैं कि बेल पत्तों का उपयोग छोटे से लेकर बड़ी पूजा तक के लिए की जाती है अगर हमारे पूजा बेल के पत्ते ना हो तो हमारी पूजा अधूरी रह जाती है पूजा के लिए बेल के पत्ते को बहुत ही खास महत्व दिया गया है l

शास्त्रों में कहा गया है कि बेल के पत्ते कभी बांसी नहीं होते हैं अगर आपके पास पूजा के समय बेल पत्ते ना है तो आप मंदिर में चढ़ाए हुए बेलपत्र को उठाकर के डोले और इसको पूजा के उपयोग में ला सकते हैं l

अगर आप पूजा करते समय बेल पत्तों को चढ़ाते हैं तो तीन पत्तों वाला बेल पत्तों को चढ़ाया जाता है एक या दो पत्ते लगे रहते हैं उसको नहीं ध्यान में रखें कि अगर आप पूजा करते समय बेलपत्र को चढ़ाते हैं तो कटा फटा नहीं होना चाहिए l

बेल पत्तों को शिव जी की पूजा के लिए बहुत ही खास महत्व दिया गया है क्योंकि शिव जी को बेल के पत्ते उन्हें कुछ ज्यादा ही पसंद है l

अगर आप बेलपत्र तोड़ने जाते हैं तो आप श्रद्धा मन से बेलपत्र को तोड़िए और शिव जी की आराधना करते हुए और तीन पत्तों से लगा डंठल वाला बेलपत्र तोड़े ध्यान में रखें कि आप बेलपत्र के टहनी को तो ड़कर ना चढ़ाएं शिव जी की पूजा करते हैं तो आप बेलपत्र को चलाते हैं तो उसके साथ साथ अफजल का अर्पण

 

 

 

Facebook Comments