देशलदान ने आईएएस में 82वीं रैंक हासिल कर परिवार का नाम ऊचा कर दिया ……

अगर आप मेहनत करते हैं और आपके पास लगन, जुनून और जज्बा है तो आप सफलता हासिल कर सकते हैं। राजस्थान के जैसलमेर के सुमलियाई गांव के रहने वाले देशलदान ने आईएएस में 82वीं रैंक हासिल कर इसको साबित कर दिया है। देशलदान की ये कामयाबी इसलिए भी खास क्योंकि उनके पास पढ़ाई के लिए पर्याप्त धन नहीं था। उनके परिवार की आर्थिक हालात ज्यादा अच्छी नहीं है। देशलदान के पिता कुशलदान चारण चाय बेचते हैं।

आईएएस की परीक्षा में 82वी रैंक प्राप्त करने वाले देशलदान जैसलमेर के सुमलियाई गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता कुशलदान चारण जैसलमेर में चाय की दुकान चलाते हैं और संघर्ष में पूरा जीवन गुजारा है। एक चाय वाले के संघर्षों ओर उनके पुत्र के लक्ष्य के प्रति समर्पण का परिणाम आज उनके परिवार के सामने है कि उनका पुत्र

आईएएस के लिए चयनित हुआ है। जैसलमेर जैसा सीमावर्ती इलाका जहां उच्च शिक्षा को लेकर सुविधाएं न के बराबर हैं, ऐसे में देशलदान का आईएएस में चयन गौरव का विषय है। परिवार में ख़ुशी का माहौल है, पिता ने कहा-बहुत खुशी हुई।

Facebook Comments