ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं ये जानकारी..सांप कभी भी किसी को भी काट सकता है

 भारत में छोटी से बड़ी प्राजातियाँ लेकर लगभग 550 प्रकार के सांप पाये जाते है। इन साँपों में से सिर्फ 10 साँपों की ऐसी प्रजातियाँ होती हैं जो जहरीली होती हैं। इसके अलावा समस्त प्रजातियाँ विष रहित होती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि सांप काट ले तो क्या करना चाहिए।

द्रोणपुष्पी-दोस्तों इस पौधे को लगभग सभी लोग जानते होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में इसे गुम्मा भी कहा जाता है। यह लगभग सभी क्षेत्रों में मिल जाता है और एक प्रकार का खरपतवार है। अगर किसी को सांप काट लें तो द्रोणपुष्पी का सवरस निकाल कर रोगी को पिला देने से रोगी का जहर सिर्फ दस मिनट में उतर जाता है। सबरस का मतलब होता है इसके सम्पूर्ण पौधे का रस। इसके अलावा भी मैं आपको और भी चीजे बताता हूँ जो सांप के जहर को उतार देतीं हैं।

बिना बुझा चूना -अगर किसी व्यक्ति को सांप काट लेता है तो ,सबसे पहले उस स्थान पर एक प्लस के आकार का कट लगा दे। उसके बाद बिना बुझे हुए चूने को बारीक पीस कर उस स्थान पर लगा दें और उसपर एक से दो बूद पानी दाल दें। ऐसा करने से चूना सांप के जहर को खींच लेता है और रोगी ठीक हो जाता है।

मोर पंख -कितना भी जहरीला सांप काट ले इसके लिए मोर पंख बहुत ही रामबाण उपाय हैं। आपको करना क्या है कि मोर के पंख के आँख वाले भाग को काट लें और उसे अच्छी तरह से पीस कर पानी के साथ पिलाने से सांप का जहर खत्म हो जाता है।

गिलोय का पौधा -जिस व्यक्ति को सांप ने काटा है उस व्यक्ति को गिलोय के जड़ का रस निकाल कर पिलाने से सांप का रस उतार जाता है। कभी -कभी सांप के काटे हुए व्यक्ति का शरीर नीला पड़ जाता है उस स्थिति में गिलोय का रस कान ,आँख और नाक में डालने से तुरंत लाभ होता है। उपरोक्त समस्त उपचार पूर्ण रूप से कारगर हैं। अगर किसी व्यक्ति को लाभ नहीं होता है तो उसे तुरंत स्वास्थ्य केंद्र ले जाना चाहिये।

Facebook Comments