शहीद जवान का शव लेने से इंकार कर दिया घरवालों ने, कर दी सेना से यह मांग

जहां पूरी दुनिया भारत और पाकिस्तान का मैच देखने में व्यस्त थी तो वहीं दूसरी तरफ भारत और पाकिस्तान की सीमा पर तनाव चल रहा था क्योंकि पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन कर भारत में ताबड़तोड़ गोलाबारी कर दी जिसके बाद भारतीय सेना ने भी जवाब दिया लेकिन पाकिस्तान की गोलाबारी में 1 BSF का जवान शहीद हो गया, इसके बाद भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की जिसमें भारतीय सेना ने पाकिस्तान की कई चौकियों को ध्वस्त कर दिया ।

लेकिन जब BSF के जवान शहीद नरेंद्र सिंह का पार्थिव शव उनके घर पहुंचा तो उनके घर वालों ने अपने बहादुर जवान का शव लेने से इंकार कर दिया क्योंकि उनका कहना था कि यह हत्या है कोई हादसा नहीं और जब तक पाकिस्तान को इसकी सजा नहीं मिलेगी हम अपने बेटे का शव नहीं लेंगे । तब भारतीय सेना ने बड़ी मुश्किल से शहीद नरेंद्र सिंह के घर वालों को समझाया फिर जब जाकर शाहिद के परिजनों ने शव लिया और देश के बहादुर बेटे का अंतिम संस्कार किया ।

Facebook Comments