वैश्यालय की लड़की से कर बैठा ये लड़का प्यार, पुलिसवालों ने कराई शादी

लेकिन आकाश शुरू से ही इस काम के विरोध में था और बड़े होकर उसने पिछले 60 नाबालिक लड़कियों को इस जाल से बचाया था.

प्यार कहीं भी किसी को भी हो सकता है और किसी से भी हो सकता है. आजकल एक जैसे जेंडर वाले लोगों के बीच भी प्यार होने लगा है. लेकिन यहाँ हम स्ट्रैट लोगों की ही बात कर रहे हैं यानी एक लड़का और लड़की की प्रेम कहानी ही बताने जा रहे हैं जो वाकई कमाल की है. ऐसी ही एक घटना बताने जा रहे हैं जो प्यार करने वाले के लिए एक बेहतरीन उदहारण है. चलिए मिलवाते हैं उन कपल से जो एक बेहतरीन मिसाल हैं.

दरअसल, यह मामला मध्य प्रदेश के निजाम का है जहां आकाश और भारती ने कोर्ट में शादी कर ली. अब इनके बारे में बता दें ये दोनों कौन हैं. आपको बता दें आकाश ने जिस लड़की से प्यार किया वो एक रेड लाइट में रहती थी जिसे देखकर आकाश को प्यार हुआ और उसने उसी लड़की से शादी कर ली. आकाश और भारती दोनों बांछड़ा समुदाय से हैं. सरकार ने इस काम को रोकने की कभी कोशिश नहीं की और ये काम चला आ रहा है. लेकिन आकाश शुरू से ही इस काम के विरोध में था और बड़े होकर उसने पिछले 60 नाबालिक लड़कियों को इस जाल से बचाया था.

आपको बता दें इसी रेस्क्यू में आकाश की मुलाकात भारती से हुई जो  वहीँ काम किया करती थी और तब वो सिर्फ 16 साल की थी. भारती ने बताया था उसकी माँ ही उसे इस धंधे में धकेल रही है. आकाश ने किसी तरह से उसे निजाम पहुँचाया और एक हॉस्टल में भर्ती करा दिया लेकिन उसकी माँ ने उसे वहां से भी निकाल लिया. बाद में पुलिस ने भारती को आश्रम भेजा और स्कूल में उसका नाम लिखा दिया और इतना ही नहीं पुलिस ने ही आकाश और भारती की शादी कर दी तब तक भर्ती 21 साल की हो चुकी थी.

Facebook Comments